नई दिल्ली: टॉप भारतीय माइक्रोबायोलॉजिस्ट्स को इस बात की आशा है कि 21 दिन के लॉकडाउन के बाद जब गर्मी आएगी, तो पारे में बढ़ोतरी भारत में कोरोनावायरस (COVID-19) के प्रसार को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है. देश के सबसे पुराने साइंटिफिक आर्गेनाइजेशन में से एक एसोसिएशन ऑफ माइक्रोबायोलॉजिस्ट्स (एएमआई) के प्रमुख और प्रसिद्ध माइक्रोबायोलॉजिस्ट प्रोफेसर जेएस विर्दी कहते हैं कि “मेरी सबसे बड़ी आशा यह है कि अप्रैल के अंत तक तापमान में संभावित बढ़ोतरी निश्चित रूप से इस देश में महामारी की रोकथाम में सहायक होगा.” Also Read - Corona Virus: यूरोप में जान गंवाने वाले 95 प्रतिशत लोग 60 वर्ष से अधिक आयु के थे, फिर भी...

पूरे विश्वभर से प्रतिष्ठित संस्थानों के अध्ययन से खुलासा हुआ है कि कोरोनावायरस (Corona Virus) के विभिन्न प्रकारों ने ‘सर्दी के मौसम में पनपने के लक्षण’ दिखाए हैं. आसान शब्दों में समझें तो, कोरोनावायरस दिसंबर और अप्रैल के बीच ज्यादा सक्रिय होता है. कई वायरोलॉजिस्ट ने संकेत दिए हैं कि इस वर्ष जून के अंत तक, कोविड-19 का प्रभाव मौजूदा समय से कम होगा. Also Read - पीएम मोदी ने कहा- कोरोना वायरस ने हमारे धर्मों, हमारी सोच पर हमला बोला है, इसे पराजित करने को एकजुट हों

एएमआई के महासचिव प्रोफेसर प्रत्यूष शुक्ला ने कहा, “हां, कुछ वैज्ञानिक जून थ्योरी की बात कर रहे हैं, जो कि निश्चित रूप से तापमान में बढ़ोतरी से जुड़ा हुआ है. मैंने कुछ चीनी सहयोगियों से बात की है और उन्होंने हमें बताया है कि कोविड-19 का रेसिस्टेंस पॉवर उच्च तापमान को बर्दाश्त नहीं कर सकता.” उन्होंने कहा, “प्राय: सार्स या फ्लू समेत सभी तरह के वायरस का अधिकतम प्रभाव अक्टूबर से मार्च तक होता है. इसके पीछे कारण यह है कि वायरस के प्रसार में तापमान की महत्वपूर्ण भूमिका होती है.” Also Read - देश को महामारी से बचाने के लिए ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी ने छोड़ी हॉकी, अस्‍पताल जाकर उठाई 'नर्स' की जिम्‍मेदारी

एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के संक्रामक रोग केंद्र द्वारा किए गए विस्तृत अध्ययन से पता चला है कि रोगियों के श्वासनली से प्राप्त तीन प्रकार के कोरोनवायरस का सर्दियों के समय पनपने की संभावना ज्यादा है. अध्ययन से खुलासा हुआ है कि वायरस से संक्रमण दिसंबर से अप्रैल तक फैलता है. हालांकि माइक्राबायोलॉजिस्ट का यह भी मानना है कि इस बात के कुछ शुरुआती संकेत मिलने हैं कि कोविड-19 मौसम के साथ बदल भी सकता है. नए वायरस के पैटर्न के अध्ययन से पता चला है कि यह ठंडे और सूखे क्षेत्रों में अधिक संक्रामक है.

इस वायरस के दुनियाभर में फैलने की बाबत जे.एस. विर्दी ने कहा, “मैंने माइक्रोबायोलॉजिस्ट के रूप में अपने 50 साल के करियर में इस तरह का वायरस नहीं देखा जो इतनी तेजी से फैलता है. और जिस तेजी से यह फैलता है उससे पता चलता है कि यह हवा में रहता है यानी हवा इसका वाहक है. एक अन्य कारण यह भी है कि इस नए वायरस का जीवनकाल पहले के वायरसों की तुलना में लंबा है.” उन्होंने कहा कि इस वायरस का प्रसार इसलिए नहीं रुक पा रहा है क्योंकि यह एयरोसोल (हवा में मौजूद ड्रापलेट) से भी फैलता है.

करीब 5 हजार माइक्रोबायोलॉजिस्ट सदस्य वाली वर्ष 1938 में स्थापित एएमआई का मानना है कि सरकार ने जो 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की है यह समुदाय में कोरोना के फैलने से रोकने में प्रभावी भूमिका निभाएगी. लॉकडाउन वायरस के फैलने के खतरनाक चेन को तोड़ेगी. अभी इस वक्त यही सबसे बेहतर किया जा सकता है. एएमआई के प्रेसिडेंट विर्दी ने कहा कि जल्द ही माइक्रोबायोलॉजिस्ट की सर्वोच्च संस्था इस मुद्दे पर चर्चा के लिए जल्द ही वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक करेगी.

कोरोना वायरस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें

Coronavirus: वैज्ञानिकों की चेतावनी, मई के मध्य तक भारत में 13 लाख लोग हो सकते हैं संक्रमित

कोरोना बेबी बूम: दुकानों पर कंडोम्स की कमी, 2020 के आखिर तक बढ़ेगी रिकॉर्ड जनसंख्या!

इस नर्स को दुनिया कर रही सलाम, Corona के खिलाफ लड़ते-लड़ते बोलीं- मैं जवान हूं लेकिन…

Coronavirus: जुकाम होने के बाद पहले 5 दिन में दिखें ये 3 लक्षण, तो जरूर कराएं COVID-19 की जांच

MLA पति के साथ बाइक पर घूमती दिखती हैं ये सांसद, कोरोना को लेकर कर रही हैं जागरूक

कोरोना के डर से घरों में कैद लोग कर सकें टाइम पास, इसलिए इस एडल्ट वेबसाइट ने फ्री की प्रीमियम सर्विस

Coronavirus Myth & Truth: एल्‍कोहल से मर जाता है कोरोना वायरस, ‘पीने’ वालों को नहीं होती ये बीमारी!

कोरोना वायरस फैलने से बढ़ी पोर्न स्टार्स की डिमांड, खूब कर रहीं कमाई

जो बनाएगा कोरोना वायरस की वैक्सीन, मैं उसके साथ बिस्तर पर…

पूनम पांडे ने बॉयफ्रेंड से कहा- Kya karega Corona jab dil kahe… karona

कोरोना का असर! घर में कैद हुईं सनी लियोनी, फोटो शेयर कर लिखा…

Coronavirus Stages: क्या है कोरोनावायरस के स्टेज 1-2-3-4, भारत कौन सी स्टेज पर है, आगे क्या होगा?

Coronavirus Test Private Labs List: लिस्ट जारी, इन प्राइवेट लैब्स में होगा कोरोनावायरस टेस्ट, इतनी होगी फीस