नई दिल्ली: “पापा शराब पीकर घर में कोहराम मचा रहे हैं. शराब के नशे में बार-बार सड़क पर पहुंचकर लॉकडाउन (Lockdown) का खुलेआम मजाक उड़ाते हैं. पुलिस तुरंत इन्हें काबू करे.” कोरोना जैसी त्रासदी और मुसीबत में यह सब सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन सच्चाई यही है. घटना दक्षिण-पश्चिम दिल्ली जिले के वसंत कुंज (दक्षिण) थाने की है. थाना वसंतकुंज (साउथ) सूत्रों के मुताबिक, “बुधवार को दिन के वक्त एक पुलिस कॉल आई थी. कॉल करने वाले ने बताया कि वह रजोकरी गांव से बोल रहा है. ‘तुरंत पुलिस मौके पर पहुंचे, मेरे पापा लॉकडाउन का मजाक उड़ा रहे हैं. उन्हें हम लोग बार बार कोरोना और लॉकडाउन के बारे में बता रहे हैं, मगर वह किसी की बात नहीं मान रहे हैं. मना करने के बाद भी बार-बार सड़कों पर चले जाते हैं’.” Also Read - कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 40 हजार पार, 73 और मरीजों की मौत

थाना वसंतकुंज (साउथ) सूत्रों ने बताया, “घटना सही है. सूचना पाकर थाना पुलिस मौके पर पहुंची. रजोकरी गांव में पुलिस को सूचना देने वाला 40 साल का एक आदमी मिला. उसने बताया कि वह एक टेलीकॉम कंपनी में प्रबंधक है.” पुलिस पूछताछ में युवक से पता चला कि वह और उसका परिवार शराबी पिता से बहुत परेशान है. पिता की हरकतों के चलते गांव की गलियों में भी उसके परिवार का मजाक उड़ाया जाता है. हद तो तब हो गई जब, पिता ने शराब पीकर लॉकडाउन को ही मजाक बना डाला. काफी समझाने के बाद भी जब वह नहीं माने तो उसने पुलिस को सूचना दी. Also Read - देश के 19 राज्‍यों में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की दर राष्‍ट्रीय औसत से बेहतर: केंद्र

बेटे की शिकायत पर थाना वसंतकुंज साउथ पुलिस ने आईपीसी की धारा 188 के तहत केस दर्ज कर शराबी पिता को हिरासत में ले लिया. थाना पुलिस के ही एक अधिकारी ने शुक्रवार को नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, “शराबी पिता को लॉकडाउन की अहमियत और कोरोना के खतरे से बारे में काफी देर समझाया गया. उसके बाद कानूनी कार्रवाई करके चेतावनी देकर छोड़ दिया गया.” Also Read - Eid Al-Adha 2020: इस बार कुछ अलग होगी बकरीद, मुस्लिम धर्मगुरुओं बोले- कुर्बानी भी...