मुंबई/नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए मध्य और पश्चिमी रेलवे ने शनिवार को एसी डिब्बों से पर्दे और कंबल निकालने के आदेश जारी किए क्योंकि ये प्रतिदिन नहीं धुलते हैं. हालांकि, चादर, तौलिए और गिलाफ सहित बेड रोल के अन्य सामान प्रत्येक इस्तेमाल के बाद धोए जाते हैं. Also Read - अब कोरोना वायरस से हुई मौतों पर भी बीमा कंपनी को देना होगा क्लेम, नहीं कर सकती इनकार

पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता गजानन महतपुरकर ने बताया, “मौजूदा निर्देशों के अनुसार एसी डिब्बों में दिए गए पर्दे और कंबल हर यात्रा के बाद नहीं धोए जाते हैं. कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए अगले आदेश तक कंबल और पर्दे तुरंत हटा लिए जाएंगे.” Also Read - Coronavirus Effect: एयर इंडिया ने 30 अप्रैल तक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग रद्द की

उन्होंने कहा, “यात्रियों को अपना कंबल लाने की सलाह दी जाएगी. किसी भी समस्या के लिए कुछ अतिरिक्त चादरें रखी जाएंगी.” मध्य रेलवे ने सभी डिब्बों को अच्छी तरह साफ-सुथरा करने का निर्देश दिया है. ये हर दिन हजारों यात्रियों के संपर्क में आते हैं. Also Read - Corona Effect: छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला, पहली से 8वीं और 9वीं व 11वीं कक्षा के छात्रों को सामान्य पदोन्नति मिलेगी

बता दें कि शनिवार तक देश में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की संख्या 96 हो गई है और राज्यों को निर्देश दिए कि आपदा कोष के तहत कोविड-19 की रोकथाम के लिए सामग्रियों की सूची और सहयोग के मानक तैयार करें. कर्नाटक के 76 वर्षीय एक व्यक्ति और दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की कोरोना वायरस से मौत हो गई जिसे डब्ल्यूएचओ ने वैश्विक महामारी घोषित किया है. इस बीमारी से पूरी दुनिया में 5000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. कई राज्यों ने स्कूलों, कॉलेजों, सार्वजनिक संस्थानों और सिनेमा हॉल को बंद करने के आदेश दिए हैं.