नई दिल्ली: चीन ने गुरुवार को कहा कि वह भारत में कोरोना वायरस के एक पुष्ट मामले की खबर पर करीबी नजर रखे हुए है . साथ ही उसने भारत को आश्वस्त किया है कि इस महामारी की रोकथाम एवं नियंत्रण में उससे सहयोग करेगा. चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि मिशन इस मुद्दे पर भारत सरकार के साथ लगातार संवाद में हैं और उसे नए कोरोना वायरस (एनसीओवी) से जुड़े ताजा घटनाक्रम और इसकी रोकथाम व नियंत्रण को लेकर चीन के प्रयासों से लगातार अवगत करा रहा है. Also Read - Maharasthra Curfew: हिंगोली में एक ही दिन में मिले कोरोना के 51 नए मरीज, 7 दिन का कर्फ्यू लगा

रोंग ने कहा कि चीनी पक्ष भारत में नए कोरोना वायरस की वजह से निमोनिया के एक पुष्ट मामले के सामने आने की खबर पर करीबी नजर रख रहा है और इस महामारी की रोकथाम एवं नियंत्रण की दिशा में भारत के साथ संयुक्त रूप से सहयोग करेगा. केरल में कोरोना वायरस के एक मामले की पुष्टि के बाद चीन की तरफ से यह बयान आया है. उन्होंने कहा कि चीनी सरकार भारतीयों समेत हर विदेशी नागरिकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को बेहद महत्व देती है. उन्होंने कहा कि हम भारतीय पक्ष के साथ करीबी संवाद बरकरार रखने, आवश्यक सहायता उपलब्ध कराने और चीन में भारतीय नागरिकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य तथा उनकी वैध चिंताओं के सामयिक समाधान के इच्छुक हैं. Also Read - Tamilnadu Lockdown Extension: कोरोना का बढ़ता कहर, तमिलनाडु में बढ़ा लॉकडाउन, महाराष्‍ट्र CM ने बताई 'मजबूरी'

भारत ने चीन से किया ये अनुरोध
रोंग ने कहा कि हम यह भी उम्मीद करते हैं कि भारतीय पक्ष इस महामारी की रोकथाम और नियंत्रण को लेकर चीन के प्रयासों को समझने के साथ अपना समर्थन जारी रखेगा. भारत ने चीन से अनुरोध किया है कि वह इस वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित हुबेई प्रांत में फंसे अपने नागरिकों को निकालने के लिये उसे दो उड़ानों के संचालन की इजाजत दे. Also Read - आज से शुरू हो रहा कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण, इस तरह कराएं रजिस्ट्रेशन, जानें पूरी प्रक्रिया