नई दिल्ली: दिल्ली के सबसे पॉश इलाकों में शुमार सिविल लाइन्स के ओबेरॉय अपार्टमेंट में कोरोना वायरस (Corona Virus in Oberoy Apartment) के 8 रोगी मिले हैं. अपार्टमेंट के बाहर दिल्ली पुलिस का पहरा है और अंदर जाने वाले रास्ते पुलिस ने सील कर दिए हैं. इस अपार्टमेंट के अंदर दिल्ली के कई बड़े बिजनेस मैन, एक पूर्व केंद्रीय मंत्री, आम आदमी पार्टी से चुनाव लड़ चुके एक बड़े नेता, उनका परिवार और कई अन्य बड़ी हस्तियों का आवास है. सिविल लाइन्स रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष भी ओबेरॉय अपार्टमेंट में ही रहते हैं. Also Read - भारत में शुरू हुईं घरेलू उड़ानें, WHO ने कहा- कोरोना से बचने के लिए 'एक मीटर की दूरी बहुत जरूरी'

इलाके की डीसी निधि श्रीवास्तव ने कहा, “ओबेरॉय अपार्टमेंट में अभी तक 8 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए यह सभी व्यक्ति एक ही घर के हैं. फिलहाल इस परिवार के अलावा अपार्टमेंट में किसी और व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना नहीं है.” Also Read - राहुल गांधी ने कोविड-19 के खिलाफ लॉकडाउन को बताया Fail, बोले- आगे की रणनीति बताए मोदी सरकार

डीसी निधि श्रीवास्तव ने कहा, “हमने यहां रहने वाले बाकी सभी लोगों के भी सैंपल लिए हैं जिसकी रिपोर्ट अभी आनी बाकी है.” ओबेरॉय अपार्टमेंट में रहने वाली एक युवती लंदन से यहां लौटी थी. विदेश से लौटने के कारण युवती ने स्वयं को अपने ही घर में क्वॉरेंटाइन किया था. हालांकि इस क्वॉरेंटाइन के दौरान घर के कुछ सदस्यों से उसका संपर्क हुआ. युवती कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाई गई और उसके साथ ही परिवार के अन्य सदस्य भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. महिला परिधानों के विख्यात व्यवसायी इस परिवार के सभी सदस्यों का दिल्ली के एक बड़े प्राइवेट अस्पताल में उपचार चल रहा है. जहां परिवार के मुखिया की स्थिति गंभीर है जबकि परिवार के अन्य सभी सदस्यों की स्थिति स्थिर बताई गई है. Also Read - Delhi-Ghaziabad Border Seal : चिलचिलाती धूप में दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर में फंसी हजारों गाड़ियां, लोग बोले- पास होने के बाद भी...

ओबेरॉय अपार्टमेंट, मुख्यमंत्री आवास से करीब एक किलोमीटर की दूरी पर है. इस अपार्टमेंट के दूसरी ओर दर्जनों बंगले एवं सरकारी कार्यालय हैं. हालांकि ओबेरॉय अपार्टमेंट में कोरोना वायरस के लक्षण मिलने के बावजूद सिविल लाइंस में रहने वाले अन्य स्थानीय लोग ज्यादा चिंतित नहीं हैं. सिविल लाइन्स रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष नरेन भीकू राम जैन ने कहा, “ओबरॉय अपार्टमेंट में कोरोनावायरस का फैलना महज एक दुर्घटना है. स्वयं इस परिवार ने अपनी ओर से पूरी सावधानी बरती थी. सेल्फ क्वॉरेंटाइन में रह रहे इस परिवार के लोगों का क्वॉरेंटाइन पीरियड के दौरान अपार्टमेंट के बाहर अन्य लोगों से संपर्क नहीं हुआ. इसके अलावा सिविल लाइंस में लोग बड़े घरों अथवा बंगलों में रहते हैं. लोग बिना कारण घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं. सैनिटाइजर और मास्क का इस्तेमाल किया जा रहा है. ऐसे में संक्रमण फैलने का कोई कारण यहां दिखाई नहीं पड़ता.”

ओबेरॉय अपार्टमेंट के बारे में जानकारी देते हुए जैन ने कहा, “यह कोई मल्टीस्टोरी अपार्टमेंट नहीं बल्कि एक और दो मंजिला घरों वाला अपार्टमेंट है. यहां दो घरों के बीच पर्याप्त दूरी है और अपार्टमेंट में साफ-सफाई की बेहतरीन व्यवस्था है. दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने अपार्टमेंट के लोगों के साथ इस पूरे घटनाक्रम पर चर्चा की है. इलाके को सैनिटाइज किया गया है. साथ ही यहां रहने वाले सभी 70 लोगों के सैंपल भी एकत्र किए गए हैं.”