Corona Virus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 70 हज़ार पार हो गई है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3788 मामले सामने आए हैं. जबकि अब तक 2365 लोगों की मौत हो चुकी है. Also Read - कोरोना: केरल में 1 साल तक बरतनी होगी एहतियात, 2021 तक के लिए नियम जारी, ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, दिल्ली में अब 26588 एक्टिव केस हैं, जबकि 41437 लोग रिकवर हो चुके हैं. दिल्ली कोरोना वायरस से जूझ रहा है. दिल्ली में कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए गृह मंत्रालय भी सक्रिय हो गया है. अमित शाह भी अरविन्द केजरीवाल के साथ लगातार मीटिंग कर कोरोना से लड़ने के लिए योजनाएं बना रहे हैं. Also Read - 11 जुलाई से अमेरिका के लिए उड़ान भरेंगे एयर इंडिया के विमान, बुक कराएं टिकट, जानें डिटेल

एक दिन पहले ही केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में अगले सप्ताह तक कोविड-19 रोगियों के लिये 20 हजार बिस्तर तैयार हो जाएंगे. शाह ने सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के लिये 26 जून तक 20 हजार बिस्तर तैयार हो जाएंगे और 10 हजार बिस्तरों वाले केंद्र में कामकाज शुरू हो जाएगा. Also Read - कोविड-19 की दवा विकसित करने के लिए 'ड्रग डिस्कवरी हैकाथन' शुरू, देश में पहली बार हो रही ऐसी पहल

शाह ने कहा कि कोविड-19 के रोगियों के लिए एक हजार बिस्तर का पूर्ण अस्पताल बनाया जा रहा है जिसमें 250 आईसीयू बिस्तर होंगे. उन्होंने कहा कि यह अस्पताल अगले दस दिनों में तैयार हो जाएगा और सशस्त्र बल इसे संचालित करेंगे.

उन्होंने कहा, ‘‘केजरीवाल जी, तीन दिन पहले हमारी बैठक में इस पर निर्णय किया जा चुका है और गृह मंत्रालय ने दिल्ली के राधा स्वामी सत्संग में दस हजार बिस्तर वाले कोविड देखभाल केंद्र को संचालित करने का काम आईटीबीपी को सौंप दिया है. काम तेजी से जारी है और केंद्र का बड़ा हिस्सा 26 जून तक शुरू हो जाएगा.’’

केजरीवाल ने शाह को पत्र लिखकर दस हजार बिस्तर वाले केंद्र का निरीक्षण करने और आईटीबीपी तथा सेना के चिकित्सकों और नर्सों को केंद्र में तैनात करने का आग्रह किया था, जिसके बाद शाह ने दावे का विरोध किया.