Corona Virus in India: राज्यों से कोरोना वायरस के 6,000 से ज्यादा मामले आने के साथ ही बुधवार को संक्रमित लोगों की संख्या 1.5 लाख से ज्यादा हो गई है. सरकार ने कहा है कि संक्रमण से ठीक होने की दर भी अब 42 प्रतिशत से अधिक हो गई है. वहीं, देशभर में मृतकों की संख्या भी बढ़कर 4,337 हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 64,000 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी मिल चुकी है और 83,000 से ज्यादा लोगों का इलाज चल रहा है. सुबह के अपडेट में मंत्रालय ने बताया कि मंगलवार सुबह आठ बजे से 24 घंटे में संक्रमण के 6,387 मामले और 170 मौतों के साथ देशभर में संक्रमण के कुल मामले 1,51,767 हो गए हैं और कुल 4,337 लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘अब तक करीब 42.45 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं.’’ Also Read - देश में कोरोना के 28 हजार से ज्‍यादा नए केस, कल 9 लाख के पार होगा आंकड़ा

राष्ट्रीय राजधानी में एक दिन में सबसे अधिक 792 नए मामले सामने आने से संक्रमित लोगों की संख्या 15,257 हो गयी . दिल्ली में मृतकों की संख्या 303 हो चुकी है. तमिलनाडु में भी एक दिन में सर्वाधिक 817 नए मामले सामने आए. इसमें ऐसे लोग भी हैं जो दूसरे राज्यों से लौटे हैं. राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या 18,545 हो गई. संक्रमण से छह और लोगों की मौत के साथ मृतकों की संख्या 133 हो गई. महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, असम, ओडिशा, कर्नाटक, केरल और आंध्रप्रदेश समेत विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से नए मामले सामने आए. केरल में 40 लोगों में संक्रमण की पुष्टि के बाद कोविड-19 के मामले 1,000 से ज्यादा हो चुके हैं. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि वर्तमान में विभिन्न अस्पतालों में 445 लोगों का उपचार चल रहा है जबकि 1.7 लाख लोग निगरानी में हैं . राज्य में 552 लोग संक्रमण से ठीक हो गए हैं और छह लोगों की मौत हुई है. Also Read - देश में आर्थिक संकट पर शरद पवार बोले- भारत को इस समय एक मनमोहन सिंह की जरूरत

त्रिपुरा में संक्रमण के 23 मामले सामने आए. अधिकारियों ने कहा कि महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और अन्य राज्यों से यहां लौटे लोगों में संक्रमण के नए मामले सामने आए. ओडिशा में 76 नए मामले सामने आए. इसमें 74 ऐसे लोग हैं जो दूसरे राज्यों से लौटे थे. पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि रेलवे द्वारा काफी संख्या में प्रवासी मजदूरों को प्रदेश में लाने को राज्य जन स्वास्थ्य के लिये गंभीर खतरे के तौर पर देखता है. बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में रोज श्रमिक विशेष ट्रेन भेजने की रेलवे की कथित “सनक” भरी कार्यप्रणाली को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की मांग की. मिजोरम में मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने कहा कि उनकी सरकार लॉकडाउन को 31 मई से आगे बढ़ाने पर विचार कर रही है. हिमाचल प्रदेश सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को लॉकडाउन 31 मई से आगे बढ़ाने का अधिकार दिया है और तीन जलाधिकारियों ने आदेश जारी कर संकेत दिया है कि उनके इलाके में कर्फ्यू आगे भी जारी रहेगा . Also Read - Corona Virus in Bihar: बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 16 हज़ार पार, इन जिलों का बुरा है हाल

गत 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया था, जिसका चौथा चरण 31 मई को समाप्त होने जा रहा है. हालांकि, लॉकडाउन के चौथे चरण में विभिन्न आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए कई तरह की छूट प्रदान की गई लेकिन शिक्षण संस्थानों को अब भी खोले जाने की अनुमति नहीं है. इस सप्ताह से घरेलू उड़ानों को भी चरणबद्ध तरीके से संचालित किया जा रहा है जबकि श्रमिक विशेष ट्रेनें एक मई से चल रही हैं और विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए सात मई से विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का संचालन किया जा रहा है. एअर इंडिया ने बुधवार को बताया कि अलायंस एयर की राष्ट्रीय राजधानी से लुधियाना की उड़ान में सवार एक यात्री कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. इसके बाद चालक दल के पांच सदस्यों समेत कुल 41 लोगों को पृथक-वास में भेज दिया गया है. एअर इंडिया के एक प्रवक्ता ने बताया, “25 मई को एआई 9आई837 दिल्ली- लुधियाना उड़ान में सवार एक यात्री 26 मई को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया. विमान के सभी मुसाफिरों को अब पृथक-वास में रखा गया है.’

इससे पहले, मंगलवार को इंडिगो ने कहा था कि 25 मई की शाम को उसकी चेन्नई से कोयंबटूर की उड़ान में सवार एक मुसाफिर कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था. इसी तरह, असम में भी अहमदाबाद की उड़ान से गुवाहाटी पहुंचा एक यात्री कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया. वहीं, उत्तराखंड के अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामले दोगुना होने की दर तेजी से बढ़ी है और अन्य राज्यों से लोगों के वापस आने के बाद की अवधि के दौरान संक्रमण के मामलों में करीब पांच गुना तक की वृद्धि देखी गयी है.

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने उम्मीद जताई है कि अगले माह से कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या स्थिर होकर कम होने लगेगी. उन्होंने कहा कि अब तक राज्य के 32 जिलों में कोरोना वायरस संक्रमित लोग मिले हैं. इनमें से 12 जिले शुरुआत में ग्रीन जोन घोषित किए गए थे. उन्होंने कहा कि सरकार ने बाहर से आने वालों के लिए संस्थागत पृथक-वास की व्यवस्था की है. राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से दो और लोगों की बुधवार को मौत हो जाने से राज्य में इस वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 172 हो गई है. इसके साथ ही राजस्थान में संक्रमण के 109 नये मामले सामने आए, जिससे राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 7,645 हो गई. इस बीच, गुजरात में कोरोना वायरस संक्रमण के 376 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या 15,205 तक पहुंच गई जबकि 23 मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 938 तक जा पहुंचा.