नई दिल्ली: भारत में कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे के बीच आम लोगों में जागरूकता बढ़ गई है और वे सावधानी बरतने लगे हैं. इसी क्रम में दिल्ली में मास्क और सैनिटाइजर के दाम बढ़ गए हैं. राष्ट्रीय राजधानी में अधिक मांग होने के चलते मास्क और सैनिटाइजर की कमी पड़ गई है. परिणाम स्वरूप कीमतों में वृद्धि देखने को मिल रही है. देश मे कोरोनावायरस संक्रमण के 29 मामले सामने आ चुके हैं. हालांकि, सरकार ने सभी नागरिकों से सावधानी बरतने का अनुरोध किया है. लोगों में ज्यादा व्याकुलता देखी जा रही है. रोकथाम के लिए दवाई और उपचारों की ज्यादा खोज हो रही है. लोग इंटरनेट पर इस मामले से सबंधित ज्यादा सूचनाएं ढूढ रहे हैं. Also Read - दिल्ली में प्राइवेट एम्बुलेंस सेवाओं के लिए अधिकतम कीमत तय की गई, 'आदेश न मानने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई'

दिल्ली के मेडिकल स्टोर्स में मास्क और हैंड्स सैनिटाइजर खरीदने वालों की भीड़ बढ़ती जा रही है. बढ़ती हलचल से जहां एक ओर कई मेडिकल स्टोर में इसकी कमी देखनों को मिल रही है, तो वहीं कुछ स्टोर्स ने इनके दाम बढ़ा दिए हैं. दिल्ली में जो मास्क या सैनिटाइजर पहले 150 रुपये में मिलता था, वह अब 250 रुपये तक का मिल रहा है. इस बाबत पूछे जाने पर रोहिणी स्थिति एक मेडिकल स्टोर के मालिक ने कहा, “सप्लाई ही बढ़े रेट पर हो रही है और ऊपर से अधिक मांग होने की वजह से सप्लायर मांग की आपूर्ति नहीं कर पा रहे हैं.” Also Read - Oxygen Home Delivery in Delhi: अब कोरोना रोगियों के घर पहुंचाई जाएगी ऑक्सीजन, दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला; यहां करें अप्लाई

कोरोना वायरस से दुनिया भर में खलबली: इटली में 107 की मौत, स्कूल, यूनिवर्सिटी बंद किए गए Also Read - कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में सैमसंग 50 लाख डॉलर देगा, पेटीएम 13 शहरों में आक्सीजन प्लांट लगाएगा

गौरतलब है कि विशेषज्ञों की ओर से दी गई सलाह में लोगों से अनुरोध किया गया है कि वे साफ-सफाई का ध्यान रखें, बार-बार हाथ धोएं व हैंड सैनिटाइजर्स का इस्तेमाल करें. भारत में सबसे पहले कोरोनावायरस का मामला केरल में सामने आया था, लेकिन अब तक पूरे देश में कुल 29 मामले सामने आए हैं. तीन मामलों में मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो गए हैं. कोरोनावायरस के बढ़ते असर को देखते हुए सरकार की ओर से कई तरह की सावधानियां बरतने को कहा जा रहा है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत कई बड़े-बड़े नेताओं ने भी अपने सार्वजनिक कार्यक्रमों को रद्द किया है, जिसमें होली मिलन समारोह भी शामिल है.