नई दिल्ली/वाशिंगटन: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर जारी है. दुनिया के 131 देशों में कोरोना पहुंच चुका है. अब तक दुनिया भर में 5, 123 लोगों की मौत हो चुकी है. इसमें से अकेले चीन में ही 3, 176 मौतें हुई हैं. जबकि दुनिया में एक लाख 40 से ज़्यादा लोग कोरोना संक्रमित हैं. चीन से होते हुए ये वायरस इटली, कोरिया, ईरान, ब्रिटेन, अमेरिका तक में कहर बरपा रहा है. चीन के बाद इटली में सबसे ज़्यादा 1, 226 मौतें हुई हैं. कोरोना भारत में भी पहुंच चुका है. अब तक 81 मरीज मिले हैं, जबकि दिल्ली में कर्नाटक में एक एक कोरोना पीड़ित से मौत हुई है. भारत में इससे बचने के लिए कई तरह के एहतियाती कदम उठाए हैं. कई राज्यों ने सिनेमा घर, स्कूल कॉलेज तक तक बंद कर दिए हैं. Also Read - कोरोनावायरस: बायो सूट के बाद अब DRDO ने विकसित की सैनेटाइज करने की नई तकनीक

लगातार सेक्स करने से ‘मर’ जाता है कोरोना वायरस, पूरी दुनिया में फैली ये खबर Also Read - ओडिशा में कोविड-19 के 15 नए मामले, राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 20 हुई

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे पूरी दुनिया के लिए महामारी घोषित किया है. अमेरिका ने इसे राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है. वहीं, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि वह भी कोरोना की जांच कराएंगे. हालांकि साथ ही उन्होंने कहा कि उनमें इस बीमारी के कोई लक्षण नहीं दिखे हैं. ट्रम्प ने कहा, ‘‘मैं नहीं कह सकता कि जांच नहीं होगी. अधिक संभावना है कि जांच होगी.’’ Also Read - Coronavirus Effect: एयर इंडिया ने 30 अप्रैल तक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग रद्द की

बाल के 900वें भाग जितना छोटा होता है कोरोना वायरस, जानिए कैसे करता है बॉडी में एंटर

डोनाल्ड ट्रम्प की यह टिप्पणी तब आई है जब व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में एक संवाददाता सम्मेलन में उनसे लगातार यह पूछा गया कि वह जांच क्यों नहीं करा रहे जबकि गत सप्ताहांत उन्होंने ब्राजील के उस अधिकारी से मुलाकात की थी जो बाद में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया. ट्रम्प ने ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो और उनके संचार प्रमुख फैबियो वाजगार्टन से फ्लोरिडा में मुलाकात की थी. वाजगार्टन कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए जबकि बोलसोनारो संक्रमित नहीं पाए गए.

केवल साबुन से हाथ धोने से नहीं रुकेगा कोरोना, हर रोज ये 8 काम जरूर करें

ट्रम्प ने कहा, ‘‘उस कारण से नहीं बल्कि मुझे लगता है कि मैं इसे वैसे भी करूंगा.’’ इससे दो दिन पहले व्हाइट हाउस ने कहा था कि राष्ट्रपति को कोरोना वायरस की जांच कराने की जरूरत नहीं है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘जांच जल्द ही की जाएगी. हम इस पर काम कर रहे हैं. हम जल्द ही समय तय कर लेंगे. अभी कोई लक्षण नहीं हैं. ब्राजील के राष्ट्रपति से हमारी मुलाकात बहुत अच्छी रही. बोलसोनारो शानदार व्यक्ति हैं. वह ब्राजील के लिए बेहतरीन काम कर रहे हैं. वह जांच में संक्रमित नहीं पाए गए इसका मतलब है कि कुछ भी गलत नहीं है.’’

इस बीच ट्रम्प ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की, इससे कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए संघीय कोष से सरकार को 50 अरब डॉलर की राशि मिलेगी. इस जानलेवा विषाणु से अमेरिका में 41 लोगों की मौत हो चुकी है. यह अमेरिका के 50 राज्यों में से 46 में फैल चुका है और देशभर में करीब 2,000 मामले सामने आए हैं. व्हाइट हाउस के लॉन में ट्रंप ने एक बयान में कहा, ‘‘संघीय सरकार की पूर्ण शक्ति का उपयोग करने के लिए मैं आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा करता हूं.’’ उन्होंने अमेरिका के सभी राज्यों से आपात ऑपरेशन केन्द्र बनाने को कहा है. उन्होंने कहा, ‘‘हालात और बदतर हो सकते हैं. अगले आठ सप्ताह बहुत अहम हैं.’’

Coronavirus Alert: कोरोनावायरस से पीड़ित होने पर शरीर में क्‍या बदलाव होते हैं? चीन में जो मर गए उनके लक्षण जानें…

राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि जिन लोगों को जांच की जरूरत है उनकी सुरक्षित, तेजी और सुविधाजनक तरीके से जांच हो. उन्होंने यह पता लगाने के लिए एक वेबसाइट बनाने के वास्ते सर्ज इंजन गूगल का शुक्रिया अदा किया कि जांच की जरूरत है या नहीं. साथ ही गूगल ने नजदीक के केंद्र में जांच सुविधा उपलब्ध कराने में भी सहायता की. ट्रम्प ने कहा कि गूगल के 1,700 इंजीनियर अभी इस पर काम कर रहे हैं और उन्होंने शानदार प्रगति की है.