जयपुर: देश और दुनिया फिलहाल कोरोना वायरस के गिरफ़्त में है. हर दिन इससे संक्रमित लोगों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. ऐसे में देश के नेताओं और बॉलीवुड हस्तियों द्वारा लोगों से न घबराने की अपील की जा रही है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी धर्मगुरुओं, विभिन्न समुदायों के प्रतिनिधियों तथा सभी विपक्षी दलों के नेताओं से प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने में राज्य सरकार का सहयोग करने की अपील की. Also Read - VIDEO: कोरोना संकट के बीच दिखा ये नजारा, विधायक ने खुलेआम एएसआई के छुए पैर

गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए कर्फ्यू नहीं लगाएगी, लेकिन लोगों को स्वयं ऐसा व्यवहार करना होगा जैसे कि कर्फ्यू लगा है. किसी धार्मिक स्थल पर ताला नहीं लगे, लेकिन धर्मगुरू और समुदाय के पदाधिकारी ऐसा माहौल बनाएं कि श्रद्धालु स्वयं धर्मस्थलों पर नहीं आएं. गहलोत ने मंगलवार को विपक्षी दलों के नेताओं और धर्मगुरुओं तथा विभिन्न समुदायों के प्रतिनिधियों के साथ बैठकों में कहा कि यदि प्रदेश की जनता अगले 15-20 दिन तक सामाजिक व्यवहार कम रखेगी और भीड़ वाले स्थानों पर जाने से बचेगी तो हम इस बीमारी से जीत जाएंगे. Also Read - COVID-19: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 116 हुई

मुख्यमंत्री के अनुरोध पर विभिन्न सम्प्रदायों के धर्मगुरुओं और प्रतिनिधियों ने एक संयुक्त अपील जारी की, जिसमें प्रदेश को कोरोना वायरस की महामारी से बचाने के लिए 31 मार्च तक धार्मिक स्थलों पर एकत्र न होने और यथासम्भव अपने घरों से ही ईश्वर की प्रार्थना करने का संदेश दिया गया है. भाजपा के नेता गुलाब चंद कटारिया, भाजपा विधायक कालीचरण सराफ और माकपा, भाकपा, आम आदमी पार्टी सहित अन्य पार्टियों के नेताओं ने बैठक में भाग लिया. Also Read - Video: निजामुद्दीन मरकज से अस्‍पताल में भर्ती शख्‍स ने 6वीं मंजिल से सुसाइड की कोशिश की

धर्मगुरुओं ने भी मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार और चिकित्सकों द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की. कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए उत्तर पश्चिम रेलवे ने अंबाला-गंगानगर-अंबाला एक्सप्रेस ट्रेन को 18 से 30 मार्च तक के लिए रद्द कर दिया है. वहीं जयपुर के पर्यटक स्थल सिटी पेलेस म्यूजियम, जयगढ़ किला, आमेर महल और शीलामाता का मंदिर को भी पर्यटकों के लिये 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है.

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने अपने निवास और पार्टी मुख्यालय पर होने वाली जन-सुनवाई को 31 मार्च तक रद्द कर दिया है. वहीं, ईरान से जैसलमेर के सेना के केन्द्र में पहुंचे तीन लोगों की जांच नेगेटिव पाई गई है.

एक अधिकारी ने बताया कि तीनों लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण पाये जाने पर नमूनों को जांच के लिये भेजा गया था. अन्य सभी लोग स्वस्थ हैं और उन्हें जैसलमेर में पृथक रखा गया है. अब तक राज्य में 467 नमूनों की जांच की गई है. उनमें से चार लोग पॉजिटिव पाये गये हैं, जबकि 445 नेगेटिव और 18 नमूनों की जांच रिपोर्ट आनी बाकी है.