कोलकाता: पश्चिम बंगाल में सोमवार को नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कोविड-19 संक्रमित 44 वर्षीय महिला मरीज की मौत हो गई. बंगाल में कोरोनावायरस से ये दूसरी मौत है. इस महिला का दो दिन पहले ही कोरोना परीक्षण पॉजिटिव आया था. राज्य में कोविड-19 मामलों की संख्या भी बढ़कर 22 हो गई. कालिम्पोंग की इस महिला को 26 मार्च को सांस लेने में भारी दिक्कत के बाद एनबीएमसीएच में भर्ती कराया गया था. Also Read - सऊदी अरब ने फिर से खोलीं 90 हजार मस्जिदें, मक्का अब भी बंद

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार, वह अपनी बेटी के इलाज के लिए 7 मार्च को अकेले चेन्नई गई थीं. इसके बाद वे 19 मार्च को चेन्नई-बागडोगरा फ्लाइट से एक साथ लौटीं और फिर दार्जिलिंग जिले के सिलीगुड़ी में एक रिश्तेदार के यहां उन्होंरने कुछ समय बिताया. इसके बाद कालिम्पोंग के लिए सड़क से यात्रा की. अगले दिन उन्हें बुखार और खांसी हुई, जिसके बाद उन्हें एक स्थानीय निजी अस्पताल में ले जाया गया. वहां उपस्थित चिकित्सक ने उसे वायरल संक्रमण के लिए दवाएं लेने की सलाह दी और उसे घर में अलग रहने के लिए कहा. धीरे-धीरे उसकी हालत बिगड़ती गई. 28 मार्च को उसका परीक्षण पॉजिटिव आया. इसके बाद उसे एनबीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया. उसकी बेटी और डॉक्टर को भी क्वारैंटाइन पर रखा गया है. Also Read - उत्तराखंड कैबिनेट को क्‍वारंटाइन में भेजने की जरूरत नहीं: स्वास्थ्य सचिव

पिछले हफ्ते एक 57 वर्षीय व्यक्ति ने यहां एक निजी अस्पताल में कोरोनावायरस संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया था. इस बीच, कोलकाता के एक निजी अस्पताल में भर्ती 77 वर्षीय व्यक्ति में इस बीमारी का पता चला. सूत्रों ने कहा कि वह हाल ही में दिल्ली से लौटा था और बुखार से पीड़ित था. उसकी हालत बिगड़ने के बाद उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है. Also Read - Coronavirus Lockdown: स्कूलों को फिर से खोलने की योजना पर अभिभावकों की बढ़ी चिंता, जानें क्या है सरकार की प्लानिंग