नई दिल्ली: पूरे देश पर इस समय कोरोना वायरस का साया मंडरा रहा है. इस महामारी से अब तक हज़ारों लोग संक्रमित हो चुके हैं वहीं 300 से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई है. इस गंभीर बिमारी के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए सरकार ने कई ज़रूरी कदम भी उठाए हैं जिसमें लॉकडाउन भी शामिल है. इस लॉकडाउन को पूरे देशभर में लागू किया गया था मगर फिर भी लोगों ने इसकी गंभीरता को ताक पर रखकर घरों से बाहर निकलने का निर्णय लिया. Also Read - How To Stay Safe In Gathering: कोरोना के दौर में आप जा रही हैं किसी शादी या फंक्शन में तो इन खास बातों का रखें ध्यान

इस बेवकूफी ने देश के कई राज्य में कोरोना के संक्रमण को बढ़ावा दिया है. देश की राजधानी दिल्ली में भी ऐसा दृश्य देखने को मिला लेकिन दिल्ली वालों को यह उलंघन महंगा पड़ गया. Also Read - India Covid-19 Updates: कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 81 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 48 हजार से ज्यादा केस

सोमवार को नियम तोड़ने वाले ऐसे 3358 लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की गई. इन सभी को दिल्ली पुलिस अधिनियम 65 के तहत गिरफ्तार किया गया. उसके बाद कानूनी कार्यवाही करके रिहा कर दिया गया. Also Read - जल्द आने वाला है कोरोना का टीका! केंद्र ने राज्यों से कहा- सुचारु टीकाकरण के लिए समिति गठित करो

इसी तरह सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में अलग अलग स्थानो पर दिल्ली पुलिस ने 322 वाहनों को भी जब्त कर लिया. जबकि मास्क न लगाने के जुर्म में 161 लोगों के खिलाफ कार्यवाही की गई. इसी तरह सोमवार को दिल्ली पुलिस ने 544 लोगों को मूवमेंट पास भी जारी किए.

बता दें की आज सुबह 10 बजे पीएम मोदी एक बार फिर देश को संबोधन करने सामने आएंगे. 21 दिनों के लॉकडाउन के अंतिम दिन पर इसे बढ़ाने का निर्देश दिया जा सकता है.