नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से निपटने में मदद करने के लिए भारत अगले कुछ दिनों में अपेन पड़ोसियों को सहायता प्रदान करने के अपने मुहिम के तहत नेपाल में एक त्वरित प्रतिक्रिया दल भेजेगा. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. Also Read - फिल्‍मों की शूटिंग के लिए SOP लेकर आने वाली है सरकार: केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर

टीम में सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (एएफएमएस) के स्वास्थ्य विशेषज्ञ और डॉक्टर शामिल होंगे . एएफएमएस ने कोरोना-वायरस प्रभावित देशों से लाए गए सैकड़ों लोगों की देखभाल करने के अलावा कई पृथक इकाइयां स्थापित की हैं. Also Read - Bubonic Plague: चीन में बढ़ा ब्यूबोनिक प्लेग का खतरा, क्या भारत को डरने की जरूरत है?

एएफएमएस के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल अनूप बनर्जी ने कहा कि हम इस महामारी से निपटने में सहायता करने के लिए नेपाल में एक त्वरित प्रतिक्रिया दल भेजने के लिए तैयार है, जब जरुरत होगी, तो अन्य राष्ट्रों को भी इसी तरह की सहायता प्रदान की जाएगी. Also Read - ज्योतिरादित्य सिंधिया के निजी सहायक कोरोना संक्रमित, ग्वालियर में चल रहा इलाज

सैन्य चिकित्सा कोर की 14 सदस्यीय मेडिकल टीम को सहायता करने के लिए मालदीव भेजा गया था.

(इनपुट भाषा)