नई दिल्लीः कोरोना वायरस(Coronavirus) से इन दिनों चीन में हाहाकार मचा हुआ है. सरकारी आंकड़ के अनुसार अभी तक इस जानलेवा वायरस से अब तक 800 से ज्यादा लोगों की जान चुकी है. दुनिया भर के देश इससे अपने नागरिकों को बचाने के लिए ऐहतियात बरत रहे हैं. भारत भी इसको लेकर काफी सचेत है. पहले तो भारत सरकार ने वुहान में फंसे अपने नागरिकों को वहां से निकाला और अब भारत ने इससे बचने के लिए एक और कड़ा कदम उठाया है. भारत ने चीन से आने वाले विदेशियों के प्रवेश पर रोक लगा दिया है. Also Read - Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,897 नए मामले सामने आए, 39 रोगियों की मौत

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय(Directorate General of Civil Aviation) ने अब इस वायरस से बचने के लिए कदम उठाते हुए रविवार को नोटिस जारी करते हुए चीन से भारत में आने वाले विदेशियों की एंट्री पर रोक लगा दी है. DGCA की नोटिस में कहा गया कि जो लोग 15 जनवरी या फिर उसके बाद चीन गए हैं उन लोगों को भारत में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. Also Read - कोरोना संकट का असर, हरियाणा रोडवेज की बसों के उत्तराखंड में प्रवेश करने पर रोक

आदेश में कहा गया है कि 15 जनवरी, 2020 को या उसके बाद चीन गए हैं उन्हें भारत-नेपाल, भारत-बांग्लादेश, भारत-भूटान और भारत-म्यांमार सहित किसी भी हवाई, भूमि या बंदरगाह से भारत की सीमा में आने कि अनुमति नहीं होगी. Also Read - भारत ने अब श्रीलंका के साथ किया एयर बबल समझौता, अब तक 28 देशों के साथ बनी है बात

आपको बता दें कि इस वायरस से अब तक कुल 811 लोगों की जान जा चुकी है और 37,198 मामलों की पुष्टि हुई है. उसने बताया कि शनिवार को जिन 89 लोगों की जान गई उनमें से 81 हुबेई प्रांत के थे, जहां इस विषाणु के कारण सबसे अधिक लोग मारे गए हैं. इसके अलावा दो लोग हेनान में मारे गए. हेबेई, हेइलोंगजियांग, अनहुइ, शानदोंग, हुनान और गुआंग्शी झुआंग में इससे एक-एक व्यक्ति की जान गई है.