नई दिल्ली: आजादपुर मंडी के एक 57 वर्षीय व्यापारी की कोरोना से मौत हो गई. एशिया की सबसे बड़ी इस मंडी से पूरी दिल्ली में सब्जी और फल सप्लाई होती है. स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, बड़ी संख्या में ऐसे लोगों का पता चला है, जो बीते दिनों इस व्यापारी के संपर्क में आए थे. स्वास्थ्य विभाग की टीम अब आजादपुर मंडी में इस शख्स के संपर्क में आए सभी लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटीन कर रही है. कोरोनावायरस की चपेट में आया यह शख्स मंडी में आढ़ती का काम करता था. पिछले चार-पांच दिनों से उन्हें तेज बुखार था. 19 अप्रैल को उसे शालीमार बाग के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार को उसकी मृत्यु हो गई. Also Read - दिल्‍ली के सभी बॉर्डर सील, पुलिस कर रही सख्‍त चेकिंग, सिर्फ जरूरी सेवाओं को ही है छूट

मृतक के बारे में आजादपुर मंडी के ही एक व्यवसायी दीपक यादव ने कहा, 18 तारीख तक वह अपनी दुकान पर आए थे. उसी दौरान उन्होंने बुखार होने की बात लोगों से भी कही थी. अब इस घटना के बाद हम सभी लोग बहुत डरे हुए हैं. यहां अन्य लोगों को भी कोरोना संक्रमण का खतरा है. इलाके के उपायुक्त दीपक शिंदे ने आईएएनएस से कहा, व्यवसायी की मृत्यु कोरोनावायरस से हुई थी, इसकी पुष्टि हो चुकी है. अब हम उन सभी व्यक्तियों की पहचान कर रहे हैं, जो पिछले दिनों इस व्यवसायी के संपर्क में आए थे. Also Read - Coronavirus In India Update: देश में कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में आई तेजी, ये राज्य हैं सबसे ज्यादा प्रभावित

वरिष्ठ आईएएस अधिकारी शिंदे ने कहा, व्यवसाई के संपर्क में आए सभी लोगों को क्वारंटीन किया जा रहा है. इन सभी के सैंपल लेकर इनकी कोरोना जांच की जाएगी. बड़ी संख्या में लोग मंडी के अंदर और बाहर इस व्यवसायी के संपर्क में आए थे. प्रशासन के मुताबिक, 100 से अधिक ऐसे लोगों की पहचान की जा चुकी है, जो मृतक व्यापारी के संपर्क में आए थे. मृतक के परिवार के ज्यादातर सदस्य लॉकडाउन से पहले ही एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने कोलकाता गए हुए थे और अभी तक वे कोलकाता में ही हैं. Also Read - झारखंड में ‘अनलॉक-1’: सख्‍त नियमों के साथ मिलीं ये छूट, इन बातों का रखना होगा ध्‍यान

आजादपुर मंडी में कोरोना से हुई मौत का यह पहला मामला है. इस घटना के बाद से मंडी में काम करने वाले व्यापारियों और उनके सहयोगियों में डर का माहौल है. केसर सिंह नामक एक व्यापारी ने कहा, मंडी के अंदर कोरोनावायरस की मौजूदगी और इसके कारण हुई मौत से यहां व्यवसाय कर रहे लोगों के मन में भय बैठ गया है. मंडी में नियमित रूप से व्यवस्था नहीं की जा रही है. दिल्ली सरकार से हमारी गुजारिश है कि पूरी मंडी में सैनिटाइजेशन समेत कोरोना को रोकने का हर उपाय तुरंत किया जाए.

बता दें कि दिल्ली सरकार ने मंगलवार से ही आजादपुर मंडी को 24 घंटे खोलने के आदेश दिए हैं. इसके साथ कुछ प्रावधान भी किए हैं. मंडी में प्रवेश के लिए कूपन लेना होगा और चार घंटे में केवल 1000 व्यक्तियों को मंडी के भीतर प्रवेश की इजाजत मिलेगी. दिल्ली सरकार ने मंडी में प्रवेश के नियम तय करते हुए इसे चार-चार घंटे के चार सेगमेंट में बांट दिया है. मंडी में खरीदारी सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक की जा सकती है. रात 10 बजे के बाद यहां सुबह छह बजे तक ट्रकों की आवाजाही सुनिश्चित की जाएगी.