Coronavirus Cases In Kerala: केरल में कोरोना महामारी ने एक बार फिर कोहराम मचाया हुआ है. ऐसे में कोरोना के लगातार बढ़ते मामले डराने लगे हैं. कोरोना के मामलों में बड़ी तेजी से केरल में वृद्धि हो रही है. ऐसे में महामारी से निपटने के लिए अब केंद्र सरकार ने कमर कस ली है. केंद्र सराकर ने अपनी 6 सदस्यीय सेंट्रल टीम को केरल भेजना का फैसला किया है. PTI के मुताबिक केरल में बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रभावी कोरोना प्रबंधन के लिए केरल में 6 सदस्यीय टीम की नियुक्ति करने का फैसला लिया है.Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना संक्रमण से 31,923 लोग हुए संक्रमित, 282 लोगों की हुई मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के निदेशक एसके सिंह के नेतृत्व में शुक्रवार के दिन एक दिन केरल पहुंचेगी और कुछ इलाकों का दौरा करेगी. जमीनी स्थिति का जायजा लेने के बाद कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए आवश्यक उपायोंकी यह टीम सिफारिश करेगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट में कहा कि केंद्र सरकार एनसीडीसी निदेशक की अध्यक्षता में 6 सदस्यीय टीम केरल भेज रही है. Also Read - Covishield: ब्रिटेन ने कोविशील्ड को दी मान्यता लेकिन फंसा है पेच- अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को लेकर जारी किया बयान

अगर देश में कोरोन के आंकड़ों की बात करें तो देश में फिलहाल 1.54 लाख कोरोना के एक्टिव मामले हैं. इसमें अकेले केरल में 37.1 प्रतिशत कोरोना के मामले हैं. वहीं केरल में दैनिक कोरोना के मामले 20 हजार से अधिक आ रहे हैं. यही कारण है कि एक बार फिर केरल में 31 जुलाई और 1 अगस्त को कंप्लीट लॉकडाउन लगाने का सरकार ने फैसला लिया है. बता दें कि बुधवार के दिन केरल में कोरोना के 22 हजार से अधिक मामले सामने आए थे. वहीं 131 लोगों की मौत दर्ज की गई थी. इसी के साथ केरल में अबतक कुल 16,457 लोगों की मौत हो गई है. Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना से 26,964 लोग हुए संक्रमित, 186 दिनों में सबसे कम एक्टिव मामले आए सामने

बता दें कि राज्य सरकार द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया है कि राज्य में 17,761 लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हुए हैं. वहीं इसी के साथ अबतक कुल 31,60,804 लोगों को इलाज कर ठीक किया जा चुका है. साथ ही 24 घंटे में कुल 1,96,902 लोगों के नमूनों की जांच की गई. बता दें कि राज्य में अबतक 2,67,33,694 लोगों के नमूनों की जांच की जा चुकी है.