नयी दिल्ली: सीबीएसई ने कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर 10वीं और 12वीं कक्षा की जारी परीक्षाएं बुधवार को 31 मार्च तक स्थगित कर दीं. उधर, कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर आईआईटी और इंजीनियरिंग कालेजों में दाखिले के लिये होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई..मेन) बुधवार को स्थगित कर दी गई. यह जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्रालय की राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने दी. परीक्षा पहले पांच से 11 अप्रैल के बीच होनी थी. Also Read - Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन में ऐसे बिताएं पार्टनर संग क्वालिटी टाइम, बढ़ेगा प्यार

  Also Read - बिहार सरकार का बड़ा कदम, राज्य से बाहर फंसे इतने लाख लोगों के खाते में जमा करवाए एक हजार रुपये

सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा कि भारत और विदेश में सीबीएसई की जारी परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित की जाती हैं और इसे स्थिति के आकलन के बाद पुन: निर्धारित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जारी मूल्यांकन कार्य भी इस अवधि के दौरान निलंबित रहेगा. सीबीएसई की ओर से यह घोषणा मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उस निर्देश के बाद आयी है जिसमें उसने कहा था कि परीक्षाएं जरूरी हैं लेकिन छात्रों एवं शिक्षकों की सुरक्षा भी उतनी ही महत्वपूर्ण हैं.

CBSE व सभी शैक्षिक संस्थानों को परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित करने को कहा गया
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने बुधवार को सीबीएसई और देश के सभी शैक्षणिक संस्थानों को निर्देश दिया कि कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर सभी परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित कर दी जाएं. मानव संसाधन विकास मंत्रालय में सचिव अमित खरे ने एक आधिकारिक संदेश में कहा कि शैक्षिक सत्र और परीक्षा कार्यक्रम बनाये रखना जरूरी है, लेकिन साथ ही विभिन्न परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों के साथ ही शिक्षकों एवं अभिभावकों की सुरक्षा भी उतनी ही महत्वपूर्ण है.

IIT और इंजीनियरिंग कालेजों में दाखिले के लिए होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा स्थगित
कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर आईआईटी और इंजीनियरिंग कालेजों में दाखिले के लिये होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई..मेन) बुधवार को स्थगित कर दी गई. यह जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्रालय की राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने दी. परीक्षा पहले पांच से 11 अप्रैल के बीच होनी थी. एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जेईई..मेन परीक्षा टाल दी गई है. नयी तिथि पर निर्णय बोर्ड परीक्षा कार्यक्रम एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं को ध्यान में रखकर लिया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उनकी तारीखें आपस में न टकरायें.