नई दिल्‍ली: दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा, जितने अब होम क्वारंटाइन के केस होंगे, दिल्ली सरकार हर होम आइसोलेशन वाले केस को एक ऑक्सीजन पल्स मीटर देगी. आप उस पल्स मीटर को अपने घर पर रखिए, ठीक होने के बाद उसे सरकार को वापस कर दीजिए. Also Read - Black Death: कोरोना के बाद चीन से निकली यह नई महामारी, यूरोप में मरे थे 5 करोड़ लोग, पढ़िए ये रिपोर्ट

सीएम ने कहा कि कोरोना के मरीजों में सांस लेने की समस्या सबसे ज्यादा होती है. मरीज को तुरंत ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है. अगर किसी मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है तो वह प्रशासन को जानकारी दे. हमारी टीम ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लेकर तुरंत पहुंच जाएगी. Also Read - राहुल गांधी ने PM मोदी का वीडियो शेयर कर कहा- हारवर्ड में ये तीन विफलताएं होंगी केस स्‍टडी

मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने अपनी बात कहते हुए शुरुआत में कहा, देश की राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ी जा रही जंग को लेकर आज हम चीन के खिलाफ दो युद्ध लड़ रहे हैं- भारत-चीन बॉर्डर पर और चीन से आए वायरस के खिलाफ. हमारे 20 वीर जवान पीछे नहीं हटे. हम भी पीछे नहीं हटेंगे और दोनों युद्ध जीतेंगे. Also Read - दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच CM केजरीवाल ने जनता से की प्लाज्मा डोनेट करने की अपील

COVID-19 की स्थिति पर सीएम केजरीवाल ने कहा, पिछले दिनों में हमने टेस्टिंग तीन गुना कर दी है. पहले लगभग 5,000 टेस्ट रोज़ किए जाते थे, अब करीब 18,000 टेस्ट रोज़ किए जा रहे हैं.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, आज जहां 6,200 बेड भरे हुए हैं, वहीं 7,000 बेड खाली हैं. बीच में थोड़ी सी बेड की मारामारी हुई थी, लेकिन हमने युद्ध स्तर पर सारे अस्पतालों से बात करके बेड का इंतजाम किया है.

सीएम ने कहा, दिल्ली में अभी कोविड- 19 के 25,000 मरीज उपचाराधीन, करीब 12,000 लोग घरों में पृथक-वास में हैं

दिल्‍ली के सीएम ने कहा, हमें केंद्र सरकार से काफी सहयोग मिल रहा है, दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार मिल ​कर दिल्ली में कोरोना पर काबू पाने की कोशिश कर रही हैं. मुख्यमंत्री ने कहा यह राजनीति का समय नहीं है, हम सभी को एकजुट होकर ये युद्ध लड़ने होंगे.

दरअसल दिल्ली में अभी 12 हजार से अधिक कोरोना रोगी अस्पतालों की बजाय घर पर ही रह कर अपना इलाज करवा रहे हैं. दिल्ली में 12 जून को विभिन्न अस्पतालों में 5300 कोरोना रोगी भर्ती थे. 22 जून तक इनकी संख्या में 900 रोगियों का इजाफा हुआ है और अभी कुल 6200 कोरोना रोगी विभिन्न अस्पतालों में भर्ती है. दिल्ली सरकार बिना लक्षण वाले या फिर कम लक्षण वाले कोरोना रोगियों को उनके घर पर ही रखकर इलाज देने के पक्ष में है.

दिल्ली में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस से 63 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है. 63 लोगों की मौत के साथ ही कोरोना वायरस के 3000 नए रोगियों का भी पता चला है. दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की कुल संख्या 59,746 हो गई है. दिल्ली में अभी तक कोरोना से कुल 2175 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है.