नई दिल्लीः भारत में कोरोना वायरस के लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं. देश में अब तक कोरोना के लगभग चार सौ मामले सामने आ चुके हैं. स्थिति आगे और बदतर न हो इसके लिए केंद्र और राज्य सरकारे लगातार ठोस कदम उठा रही हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को 31 मार्च तक के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है. राजधानी के लॉकडाउन की घोषणा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप राज्यपाल अनिल बैजल ने की. Also Read - Covid-19: देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 5000 के करीब, लॉकडाउन बढ़ाने पर विचार कर रही है सरकार

सीएम केजरीवाल ने कहा कि देश में कोरोना के लगातार मामले बढ़ रहे हैं और हम नहीं चाहते कि यह खतरनाक वायरस अपने तीसरे स्टेज में न पहुंचे इसलिए 23 मार्च सुबह से लेकर 31मार्च रात 12 बजे तक दिल्ली पूरी तरह से लॉकडाउन रहेगी. लॉकडाउन के दौरान केवल अति आवश्यक सेवाएं ही चालू रहेगी बाकी सब कुछ बंद रहेगा. सीएम केजरीवाल ने कहा कि जो भी इसका पालन नहीं करेगा उस पर कार्रवाई की जाएगी. Also Read - केंद्र सरकार को हाई कोर्ट का निर्देश, झारखंड को तत्काल दस हजार टेस्ट किट और 25 हजार पीपीई मुहैया कराएं

ये सेवाएं रहेंगी बंद Also Read - Covid-19: सांसदों का वेतन घटाने के लिए अध्यादेश जारी, अब हर महीने उठाना होगा 27 हजार रूपये का नुकसान

इस दौरान पब्लिक ट्रांसपोर्ट पूरी तरह से बंद रहेगा.

प्राइवेट बसें, टैक्सी, रिक्शा, ई-रिक्शा बंद रहेंगे जबकि डीटीसी की बसें 25 फीसदी चलेंगी.

राजधानी दिल्ली से सटे सभी बॉर्डर सील रहेंगे, किसी भी प्रकार की गाड़ी न तो जा सकती है और न ही दिल्ली में प्रवेश कर सकती है.

दिल्ली मेट्रो भी रहेगी बंद

दिल्ली आने वाली सभी इंटरनेशनल फ्लाइट्स बंद

लॉक डाउन के दौरान सभी तरह के धार्मिक स्थल रहेंगे बंद चाहे वह किसी भी धर्म के हों.

सभी प्राइवेट ऑफिस बंद रहेंगे और इस दौरान कंपनियों को अपने कर्मचारियों को पूरा वेतन देना होगा.

डीटीसी की 25 फीसदी बसों का होगा संचालन, दिल्ली बार्डर सील

लॉक डाउन के दौरान ये सेवाएं चालू रहेंगी

इस दौरान अस्पताल और मेडिकल की दुकानें खुली रहेंगी

बिजली ऑफिस ओपेन रहेंगे.

दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर खुले रहेंगे

बिजली और पानी सेवा चालू रहेगी.

अदालतें, पुलिस और दमकल का काम जारी रहेगा.

अनाज, दूध और दूसरी जरूरी चीजों का ट्रांसपोर्ट जारी रहेगा.

रेस्टोरेंट से होम डिलिवरी पर किसी तरह की रोक नहीं लगेगी.

रेस्टोरेंट खुले रहेंगे पर बैठने कि अनुमति नहीं रहेगी.

बैंक में कशियर रहेंगे ताकि किसी को पैसों कि निकासी में दिक्कत न हो.

इंटरनेट और ब्रॉडबैंड सर्विस भी जारी रहेगी.

जानवरों के चारे मिलते रहेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि समय रहते यदि कठोर कदम नहीं उठाए गए तो कुछ ही दिन में हजारों की संख्या में मामले बढ़ जाएंगे और तब लॉकडाउन किया तो कोई असर नहीं होगा इसका. उन्होंने कहा कि इटली का हाल हम सबके सामने है इसलिए अभी से हम सब को मिलकर इससे लड़ना है.