नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अथक प्रयास किए जा रहे हैं. हाल ही में इसके लिए उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक बूथ खोला गया है. जिससे सैंपल्स को कॉन्टेक्टलैस तरीके से इकट्ठा किया जाएगा. यह बॉक्स कांच और एल्यूमीनियम का बना हुआ है. उत्तरप्रदेश और दिल्ली- एनसीआर के इस एकमात्र बूथ को गाजियाबाद के एक सरकारी अस्पताल में खोला गया है. बूथ के अंदर जांच किए जा रहे सभी लोगों को एक लाइन में चलना होगा और इसके अंदर ग्लास के सामने खड़े होना है. जांच प्रक्रिया पूरी होने में 5 मिनट का समय लगेगा. Also Read - शादी के तुरंत बाद दूल्‍हा-दुल्‍हन सीधे पहुंचे अस्‍पताल, कोरोना टेस्‍ट कराने के बाद पहुंचे घर

दक्षिण कोरिया के टेलीफोन बूछ पर आधारित भारत का यह बूथ किसी ट्रैफिक पुनलिस बूथ की तरह ही है. बता दें कि भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन खुलने में केवल एक हफ्ता बचा है. ऐसे में कोरोना वायरस की जांच में भी तेजी आई है. उम्मीद की जा रही हैं आने वाले कुछ हफ्तों में पूरे देश में इस तरह के बूथ खोले जाएंगे. बता दें कि केरल और झारखंड जैसे राज्यों ने पहले से ही लोगों के लिए यह सुविधा शुरू कर दी है वहींं, मुंबई भी इस प्लान को अपनाने की योजना बना रहा है. उत्तर प्रदेश के एक अधिकारी ने बताया कि जिन अस्पतालों में भी कोरोना वायरस की जांच हो रही हैं उन्हें यह सुविधा जसल्द से जल्द प्रदान की जाएगी. इस प्रक्रिया से टेस्ट तेजी से तो होता ही है साथ ही संपर्क रहित कलेक्शन होने से व्यक्तिगत सुरक्षात्मक उपकरण (PPE) किट का उपयोग कम कर देता है. Also Read - Delhi-Ghaziabad Border Seal: नोएडा के बाद दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर सील, जिलाधिकारी ने जारी किया आदेश

मंगलवार को चलाए गए ट्रायल में हेल्थकेयर वर्कर्स के सैंपल कलेक्ट किए गए. गाजियाबाद में यूपी के मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल ने कहा कि नमूने पीपीई किट के बिना भी लिए जा सकते हैं, लेकिन हम फिलहाल इससे बच रहे हैं. गाजियाबाद में सुविधा के अनुभव के आधार पर अन्य सरकारी अस्पतालों में भी इसी तरह के बूथ स्थापित किए जाएंगे. Also Read - सीएम योगी पर राज ठाकरे का पलटवार, बोले- महाराष्ट्र में बिना इजाजत किसी मजदूर को नही मिलेगी एंट्री