Coronavirus Update in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमण का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. शुक्रवार को राजधानी के एक सरकारी अस्पताल में 11 चिकित्सकों सहित 31 कर्मियों में अभी तक कोरोना वायरस की पुष्टि हुई. Also Read - Vande Bharat Mission, Phase 3: टिकटों की मांग में उछाल, एयर इंडिया ने वंदे भारत मिशन के तहत तीसरे चरण की बुकिंग शुरू की

बाबू जगजीवन राम अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कुछ चिकित्सकों और अन्य कर्मियों को एलएनजेपी अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल और कुछ को निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है, जबकि शेष को पृथक-वास में भेजा गया है. Also Read - दिल्ली सरकार का बड़ा आदेश, अब कोरोना मरीजों को इलाज के लिए मना नहीं कर सकेंगे निजी अस्पताल

उन्होंने कहा, ‘‘बृहस्पतिवार तक सात चिकित्सक और सात अन्य कर्मियों में कोविड-19 के संक्रमण की पुष्टि हुई थी और अब यह संख्या 31 हो गई है. चार और चिकित्सकों में संक्रमण की पुष्टि हुई है.’’ उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि उत्तर दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में यह बीमारी ‘सामुदायिक संचार’ की स्थिति है जिससे संक्रमण का उच्च दर संभव हुआ. जहांगीरपुरी इलाके में कई निषिद्ध क्षेत्र हैं. Also Read - योगी आदित्यनाथ बोले- अनलॉक 1.0 का मतलब आजादी नहीं है, सार्वजनिक स्थानों पर पांच से अधिक लोग एकत्र ना हों

इस बीच दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले शुक्रवार को 2500 के पार चले गये जबकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोविड-19 के चार रोगियों पर किए गए प्लाज्मा थेरेपी परीक्षण के प्रारंभिक नतीजे ‘‘काफी उत्साहजनक’’ हैं जिससे कोरोना वायरस के कारण गंभीर रूप से बीमार लोगों के इलाज के लिए उम्मीद की किरण नजर आई है.

स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 136 नये मामले सामने आये जिसके साथ ही इस महामारी के मामले 2514 हो गये. इस बीमारी के तीन मरीजों की मौत भी हो गयी जिसके साथ ही यहां इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 53 हो गयी. नये मामलों में दिल्ली पुलिस का एक सहायक उपनिरीक्षक भी है जो अपराध शाखा में तैनात है. अब तक 21 पुलिसकर्मियों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है. स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार यहां 49 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में अब तक कोरोना वायरस के 857 मरीज स्वस्थ हो गये हैं. उनमें 802 लोग 18 अप्रैल के बाद स्वस्थ हुए हैं.

(इनपुट भाषा)