नई दिल्ली: दिल्ली में अब 10 लाख से अधिक लोगों को निशुल्क भोजन कराने की व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए दिल्ली सरकार ने 2750 स्थानों पर भोजन वितरण का इंतजाम किया है. यह व्यवस्था बुधवार से दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में लागू कर दी जाएगी. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “बुधवार से दिल्ली में 10 से 12 लाख लोगों को खाना खिलाने की व्यवस्था की जा रही है. इसके तहत 2500 स्कूलों और 250 नाइट शेल्टर्स में भोजन मुहैया कराया जाएगा.” Also Read - दिल्ली में कोरोना के मामले 25 हजार के पार, 161 और मरीजों की मौत; 29.74 प्रतिशत हुई संक्रमण की दर

मुख्यमंत्री ने कहा, “हम बड़े पैमाने पर लोगों को निशुल्क भोजन मुहैया कराने की व्यवस्था करने जा रहे हैं, हालांकि मुझे नहीं लगता कि इतनी बड़ी तादाद में लोग यहां आएंगे.” मुख्यमंत्री ने कहा, “अभी तक हम जिन केंद्रों पर निशुल्क भोजन मुहैया करा रहे हैं, वहां भीड़ हो रही थी. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था ठीक प्रकार से नहीं हो पा रही, इसलिए नए केंद्र खुलने से सोशल डिस्टेंसिंग हो सकेगी.” दिल्ली सरकार फिलहाल करीब 600 से अधिक स्कूलों में मुफ्त भोजन की व्यवस्था कर रही है. सरकार का कहना है कि अभी तक प्रतिदिन दिल्ली में करीब चार लाख लोगों के निशुल्क भोजन की व्यवस्था की जा रही है. बुधवार से यह व्यवस्था 4 लाख व्यक्ति प्रतिदिन से बढ़ाकर 10 से 12 लाख कर दिया जाएगी. Also Read - 'दिल्ली में स्थिति बहुत गंभीर': केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, 'बिस्तर, ऑक्सीजन उपलब्ध कराने में मदद करें'

कोरोनावायरस की रोकथाम एवं अन्य व्यवस्थाओं को बनाए रखने के लिए दिल्ली सरकार ने सीएम रिलीफ फंड बनाया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कई उद्योगपति लगातार उनसे इस विषय में संपर्क कर रहे हैं. उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में दान देने के अलावा यदि लोग चाहें तो कोरोनावायरस के उपचार में जुटे डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ के लिए पीपीई किट और टेस्टिंग किट खरीद कर दिल्ली सरकार को दान में दे सकते हैं.” मुख्यमंत्री के मुताबिक, दिल्ली सरकार भी लगातार इन उपकरणों की खरीद कर रही है. बावजूद इसके अभी कोरोनावायरस का उपचार कर रहे डॉक्टरों एवं अन्य मेडिकल स्टाफ के लिए इस प्रकार की पर्सनल प्रोटेक्शन किट और टेस्टिंग किट की आवश्यकता है. Also Read - दिल्ली में बदतर हो रहे हालात... केजरीवाल बोले- पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 30% हुई, राजधानी में 100 से कम ICU बेड खाली