चंडीगढ़: हरियाणा में पिछले चार महीनों में पहली बार कोरोनावायरस से कोई मौत नहीं हुई है. यह जानकारी राज्य सरकार ने दी. स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि यह चार महीने, 12 दिन की अवधि या 135 दिनों के बाद राज्य में कोरोनावायरस से एक भी लोगों की मौत नहीं हुई है. राज्य में इससे पहले 6 जून को कोरोनावायरस से कोई मौत दर्ज नहीं की गई थी. अरोड़ा ने कहा, “हम तब तक सक्रिय और सतर्क रहेंगे, जब तक कि कोविड-19 संक्रमण का स्थायी समाधान नहीं हो जाता.” Also Read - Kim Jong Un Cruel Decision: फिर सामने आई किम जोंग उन की क्रूरता, कोरोना के नियम तोड़ने पर नागरिक को गोलियों से भुनवाया

हरियाणा में अबतक 10,265 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं. वहीं कुल 1640 लोगों की अबतक मौत हो चुकी है. लेकिन पिछले 4 महीनों में पहली बार ऐसा हुआ कि हरियाणा में किसी की मौत नहीं हुई है. इस बीच केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त एक सरकारी पैनल ने कहा है कि भारत COVID-19 के पीक (सर्वोच्च स्तर) को पार कर चुका है. हालांकि सर्दी के मौसम में संक्रमण की दूसरी लहर (Second Wave) की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है. नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने रविवार को यह बात कही. पॉल महामारी से निपटने के प्रयासों में समन्वयन के लिए गठित विशेषज्ञ पैनल के प्रमुख भी हैं. Also Read - Farmers 5th Round Talk With Govt Live Update: किसान नेताओं और सरकार के बीच 5वें राउंड की मीटिंग शुरू

वीके पॉल ने कहा कि एक बार कोविड-19 का टीका (COVID-19 Vaccine) आ जाए, उसके बाद उसे नागरिकों को उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं. उन्होंने कहा, ‘भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों और इससे होने वाली मौतों में पिछले तीन सप्ताह में कमी आई है और अधिकतर राज्यों में संक्रमण का प्रसार स्थिर हुआ है.’ उन्होंने कहा, ‘हालांकि पांच राज्य (केरल, कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल) और तीन से चार केंद्र शासित क्षेत्र हैं जहां अब भी संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. Also Read - Corona Vaccine के ट्रायल में टीका लगवाने के बावजूद मंत्री अनिल विज COVID-19 पॉजिटिव निकले