CoronaVirus In India: देश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच केंद्र सरकार ने पांच राज्यों की सरकारों को चिट्ठी लिखकर कोरोना वायरस के बढ़ते केस की रोकथाम और साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट पर लगाम लगाने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है. केंद्र सरकार ने कहा है कि कोरोना को काबू में करने के लिए हरसंभव प्रयास करें. इसे लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शनिवार को इस मामले में कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, ओडिशा और मिजोरम के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर को चिट्ठी लिखकर आगाह किया है.Also Read - Assembly Elections 2022: चुनाव आयोग ने रैलियों-रोड शो पर रोक 31 जनवरी तक बढ़ाई, थोड़ी सी राहत भी दी

अपनी चिट्ठी में केंद्र सरकार ने कहा, इन पांच राज्यों में टेस्टिंग, ट्रैकिंग और वैक्सीनेशन को लेकर आगे की रणनीति बनाने की जरूरत है और इसके साथ ही कोरोना के प्रसार और इससे जुड़ी मौतों को रोकने के लिए कोविड के उचित नियमों का पालन भी किया जानाचाहिए. भूषण ने चिट्ठी में कहा है कि कोरोना से जुड़ी मौतों और इसके नए मामलों को रोकने के लिए मौजूद टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-वैक्सीनेट-कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर स्ट्रैटजी के तहत कदम उठाए जाने की जरूरत है. Also Read - CoronaVirus In India: एक दिन में मिले 3,37,704 नए कोरोना मरीज, 482 लोगों की मौत, जिन्दगी के लिए वैक्सीन है जरूरी!

भूषण ने इन पांच राज्यों से उस चिट्ठी पर भी ध्यान देने को कहा है जो उन्होंने ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच 27 नवंबर को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखी थी. उन्होंने उस समय सभी राज्यों को अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की जांच और सर्विलांस में तेजी लाने, उभरते हॉटस्पॉट की निगरानी और संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों को तत्काल ट्रैक करने जैसे कुछ सुझाव दिए थे. Also Read - Corona Vaccine New Guidelines: कृपया ध्यान दें-कोरोना से संक्रमित हैं तो कब लगवाएं वैक्सीन, जानिए नई गाइडलाइंस