CoronaVirus In India: कोरोना से बचने के लिए मास्क पहनना अब हमारी आदतों में शुमार हो चुका है. इसके अलावे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, हाथों को बार-बार धोना ये सब अब हमारे जीवन का हिस्सा बन चुका है. एक तरफ जहां लोग कोरोना वैक्सीन लगवाकर खुद को सुरक्षित कर रहे हैं, वहीं लोगों का ये भी सवाल है कि आखिर कबतक हम इस तरह से मास्क पहनते रहेंगे? मास्क से छुटकारा हमें कब मिलेगा? कब हम बिना मास्क के बाहर निकलकर पहले की तरह घूमेंगे?Also Read - Coronavirus cases In India: 24 घंटे में 30,256 लोग हुए संक्रमित, 295 लोगों की हुई मौत

अगले साल तक पहनना होगा मास्क Also Read - Artificial Intelligence: कोविड उपचार में कैसे मदद कर सकता है एआई उपकरण, जानें

लोगों के इन सारे सवालों का जवाब नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने दिया है. उन्होंने कहा है कि अगले साल, 2022 तक हमें इसी तरह मास्क पहनकर ही रहना होगा. कोरोना को हराने के लिए वैक्सीन, दवाई के साथ ही उपयुक्त व्यवहार की भी अभी सख्त जरूरत है. अगर कोरोना को मात देनी है तो इन सभी चीजों का एक साथ पालन करना होगा, इसलिए अगले साल भी भारत में लोगों को मास्क पहनकर ही रहना होगा. Also Read - केरल एक लाख से ज्यादा उपचाराधीन मरीजों वाला एक मात्र राज्य, देश के 64 जिलों में हालात चिंताजनक: सरकार

त्योहारों के दौरान कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करना होगा

इसके साथ ही डॉक्टर वीके पॉल ने इस साल आने वाले त्योहारों को देखते हुए चेतावनी दी है और कहा है कि तीसरी लहर की संभावना अभी टली नहीं है आने वाला समय रिस्की है. उन्होंने कहा कि दिवाली और दशहरा जैसे बड़े त्योहारों के दौरान अगर कोरोना प्रतिबंधों का पालन संख्ती से नहीं किया गया तो कोरोना वायरस का प्रसार तेजी से फैल सकता है.

क्या कोरोना की तीसरी लहर भी आएगी..

इसके अलावा डॉक्टर पॉल ने सबसे ज्यादा पूछ जाने वाले सवाल- क्या भारत में कोरोना की तीसरी लहर आएगी?- इसका भी जवाब दिया. पॉल ने कहा कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है. अगले चार-पाच महीनों में वैक्सीन के जरिए हर्ड इम्यूनिटी बन सकती है. हमें महामारी से बचने के लिए हमें खुद को तैयार करना होगा और मुझे लगता है कि अगर हम एक साथ मिलकर इसका मुकाबला करने के लिए आ जाएं तो यह मुमकिन हो सकेगा.