नई दिल्ली/तिरुवंनतपुरम: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि केरल से नोवेल कोरोनावायरस (Coronavirus) का एक पॉजिटिव मामला सामने आया है. स्वास्थ्य मंत्रालय से जारी एक बयान में कहा गया, “केरल में नोवेल कोरोनावायरस का एक पॉजिटिव मामला वुहान यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले एक छात्र में सामने आया है.”

मरीज को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। मंत्रालय ने कहा, “मरीज की हालत स्थिर है और उस पर करीबी नजर रखी जा रही है.” केरल के एक रिपोर्ट में कहा गया कि स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा ने शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारियों की एक इमरजेंसी बैठक बुलाई है. एक अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा, “हम छह सैंपल के जांच के परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे थे और हमें पांच के परिणाम मिले, जो निगेटिव थे.”

बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (World Health Organization) ने पहले से ही चेतावनी जारी कर रखी थी. संस्था ने आशंका जताई थी कि चीन क्षेत्र या फिर भारतीय क्षेत्र में यह वायरस सबसे पहले अपना असर दिखाएगा. लेकिन चीन को कोरोना वायरस (Coronavirus) ने अपने चपेट में ले लिया है. बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) कई सारे वायरसों का समूह (Family of viruses) हैं. इसके साथ सबसे बुरी बात है कि अगर इसके इलाज के लिए किसी प्रकार की दवा या एंटीडॉट बनाए जाते हैं तो वायरस अपने आदतों में बदलाव कर दवाओं के असर को खत्म कर देगा. इसलिए इस वायरस को दुनिया भर में खतरनाक माना जा रहा है.

Coronavirus के ये हैं लक्ष्ण

चीन सरकार ने पहले इस बात की पुष्टि नहीं की कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के चपेट में कई लोग आ चुके हैं लेकिन वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO/Coronavirus) और दुनिया भर की मीडिया रिपोर्टों के बाहर आने के बाद चीन ने इस बात की पुष्टि की कि कुछ लोग वायरस के चपेट में आ चुके हैं. साथ ही कुछ लोगों की मृत्यु हो चुकी हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चपेट में आने पर आपको- खांसी, कफ, छींकना, सिरदर्द, बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत हो सकती हैं

(इनपुट-आईएएनएस)