नई दिल्ली: देश में बढ़ते कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. दरअसल वायरस से प्रभावि देश के 75 जिलों को 31 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है. इस लॉकडाउन के दौरान सिर्फ जरूरी सेवाएं मिलेंगी. रेल सर्विस, मेट्रो सर्विस और बस सर्विस इस दौरान बंद रहेगी. Also Read - #Yogi Adityanath: योगी आदित्यनाथ को हुआ कोरोना, लोग कर रहे दुआ, बोले- Get well soon

यह आदेश रविवार को कैबिनेट सचिव ने जारी किया है. उन्होंने बताया कि पाबंदी उन 75 जिलों में लगाई गई है जहां पर कोरोना पॉजेटिव मामले सामने आए हैं. इस दौरान कोई भी ट्रेन नहीं चलेगी. साथ ही मेट्रो का परिचालन भी सीमित होगा. लॉकडाउन हुए जिलों में मुंबई, पुणे, नोएडा, हैदराबाद, गाजियाबाद, भीलवाड़ा, जयपुर, भोपाल, लखनऊ, नवांशहर, कटक, अंबुल, चंडीगढ़, जबलपुर, पटना, दिल्ली प्रमुख रूप से शामिल हैं. Also Read - Kashi Vishwanath Temple Guidelines: काशी विश्वनाथ और अन्नपूर्णा मंदिर में दर्शन के लिए नए नियम, कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य

इसके अलावा पंजाब सरकार ने भी कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर रविवार को पूरे राज्य में 31 मार्च तक बंद (लॉकडाउन) लागू करने का फैसला किया. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि बंद के दौरान सभी जरूरी और सरकारी सेवाएं चालू रहेंगी. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘कोविड-19 की रोकथाम के लिए 31 मार्च तक पूरे राज्य में बंद करने का आदेश दिया.” Also Read - यूपी के CM योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस से संक्रमित, खुद Tweet कर दी जानकारी

सिंह ने ट्वीट किया, “सभी जरूरी सरकारी सेवाएं जारी रहेंगी और दूध, खाद्य सामान, दवाइयां आदि जैसी जरूरी चीजें बेचने वाली दुकानें खुलेगी रहेंगी. सभी उपायुक्तों और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को पाबंदियां तुरंत लागू करने का निर्देश दिया गया है.’’ पंजाब में अब तक कोरोना वायरस के 14 मामले सामने आए हैं.

सभी पैसेंजर, एक्सप्रेस ट्रेनें 31 मार्च तक रद्द
देश में कोरोनोवायरस से संक्रमित रोगियों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर राष्ट्रीय परिवहन रेलवे ने रविवार को मालगाड़ियों को छोड़कर सभी ट्रेनों को 31 मार्च तक रद्द करने की घोषणा की. रेलवे मंत्रालय के कार्यकारी निदेशक राजेश दत्त बाजपेयी ने अपने बयान में कहा, “31 मार्च की मध्यरात्रि तक मालगाड़ी को छोड़कर कोई भी ट्रेन नहीं चलाई जाएगी.”

बाजपेयी ने कहा कि कम से कम उपनगरीय सेवाएं और कोलकाता मेट्रो रेल सेवा 22 मार्च की आधी रात तक चलती रहेगी. उन्होंने आगे कहा, “इसके बाद यह सेवाएं 31 मार्च की मध्यरात्रि तक रोक दी जाएंगी.” महाराष्ट्र और बिहार में कोविड -19 की दो ताजा मौतों की खबरों के बीच राष्ट्रीय परिवहन ने यह फैसला लिया है.

रविवार को कोविड -19 रोगियों की कुल संख्या 300 का आंकड़ा पार कर गई. ‘जनता कर्फ्यू’ के मद्देनजर, भारतीय रेलवे ने पहले ही शाम 4 बजे से 10 बजे के बीच लंबी दूरी की ट्रेनों को रद्द करने का फैसला किया था. रेलवे ने देशभर की सभी यात्री ट्रेनों को भी रद्द कर दिया है.

इससे पहले रेलवे ने देश भर में 245 जोड़ी ट्रेनों को रद्द कर दिया था और वातानुकूलित डिब्बों में कंबल देना भी बंद कर दिया था.