नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लोगों से भयभीत न होने की अपील की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, ‘कोरोना वायरस पर तैयारियों के बारे में व्यापक समीक्षा की थी. अलग-अलग मंत्रालय और राज्य मिलकर काम कर रहे हैं, जो भारत में आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग से लेकर शीघ्र चिकित्सा सुविधा मुहैया करा रहे हैं. घबराने की जरूरत नहीं है.’ Also Read - Coronavirus Delhi latest Update: दिल्ली में कोरोना का विस्फोट, एक दिन में 1500 से अधिक नए मामले, सरकार ने समिति का किया गठन

उधर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार की तैयारियों को लेकर मंगलवार अपराह्न तीन बजे स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन और अन्य शीर्ष अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई है. अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के एक मामले की सोमवार को पुष्टि होने के बाद यह बैठक बुलाई गई है.

उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव विजय कुमार देव और स्वास्थ्य मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी बैठक में उपस्थित रहेंगे और सरकार को तैयारियों के बारे में बताएंगे.

इसके अलावा केजरीवाल ने संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद कहा कि उन्होंने शहर में हिंसा और पहले कोरोनावायरस के मामले पर चर्चा की. बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में केजरीवाल ने कहा, “मैंने उनसे कहा कि जो कोई भी दिल्ली हिंसा के लिए दोषी पाया जाता है, उसे सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए. चाहे वह किसी भी पार्टी या धर्म का हो या वह कितना भी शक्तिशाली हो, एक मजबूत संदेश देने की जरूरत है.”

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने अफवाह रोकने के लिए दिल्ली पुलिस द्वारा किए गए अच्छे काम के बारे में प्रधानमंत्री को बताया. राजधानी में रविवार को अफवाहें फैलने लगी थीं. इसके साथ ही केजरीवाल ने उनसे यह भी कहा कि अगर पुलिस ने इसी तरह से काम किया होता तो जब पहले जिले में हिंसा के फैलने की खबर आई तो बहुत-सी जानों को बचाया जा सकता था.

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की कि भविष्य में ऐसी चीजों को दोबारा होने से रोकने के लिए कदम उठाए जाने की जरूरत है, जिससे प्रधानमंत्री ने सहमति जताई. दिल्ली में कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आने पर केजरीवाल ने कहा, “प्रधानमंत्री से इस पर भी चर्चा हुई. हमने चर्चा की कि हमें कोरोनावायरस के खिलाफ मिलकर काम करना है.” विधानसभा चुनाव के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रधानमंत्री मोदी के साथ यह पहली मुलाकात है. मंगलवार की बैठक संसद परिसर में प्रधानमंत्री के कक्ष में हुई.