नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 20 हजार के पार जा चुकी है, वहीं मरने वालों की संख्या भी 652 पहुंच चुकी है. ऐसे में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हर कोई अपने अपने तरीके से योगदान दे रहा है. इसी बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की पत्नी व फर्स्ट लेडी सविता कोविंद भी कोरोना के खिलाफ अब मैदान में उतर चुकी है. इस दौरान वह मास्क खुद मास्क बनाकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

राष्ट्रपति एस्टेट के शक्ति हाट में सविता कोविंद मास्क का काम करती दिखाई दीं. इस दौरान वह सिलाई मशीन के द्वारा मास्क के सिलाई का काम करती दिखीं. इस मास्क को प्रथम महिला ने गरीबों व लिए बनाया है. इसे कई शेल्टर होम्स और राजधानी के शहरी आश्रय सुधार बोर्ड को दिया जाएगा ताकि गरीबों तक मास्क की पहुंच हो सके. Also Read - कोरोना के बढ़ते मामले या सीमा पर तनाव है वजह! भारत से अपने नागरिकों को निकालेगा चीन

बता दें कि मास्क बनाते समय खुद सविता कोविंद ने भी मास्क लगाए रखा था. बता दें कि बीते दिनों देश में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया था. बवाजूद इसके कई लोगों के पास मास्क की सुविधा नहीं है. इस कारण जगह जगह लोग मास्क वितरण करने का काम करते दिख रहे हैं. यही कारण है कि कोरोना के खिलाफ जंग में सविता कोविंद ने भी अंशदान दिया और गरीबों के लिए मास्क बनाया.