CoronaVirus In India: कब खत्म होगी कोरोना की तीसरी लहर, कब खत्म होगा ओमिक्रॉन, डरें नहीं. सतर्क रहें

देश में अब कोरोना के नए मरीजों की संख्या दो लाख के पार हो गई है. ऐसे में शंका ये हो रही है कि कि क्या कोरोना की तीसरी लहर अब पीक पर है. तेजी से फैल रहा है कोरोना का संक्रमण, डॉक्टरों का कहना है कि इससे डरने की नहीं. सतर्क रहने की जरूरत है.

Updated: January 15, 2022 5:28 PM IST

By Kajal Kumari

Omicron cases in India
Omicron cases in India

CoronaVirus In India: भारत में  कोरोना के 2.5 लाख से ज्यादा नए मरीज मिले हैं जिसे देखते हुए कहा जा रहा है कि जल्द ही इसकी तीसरी लहर पीक पर होगी. फरवरी के महीने में कोरोना के नए मामलों में और तेजी आ सकती है. इसके साथ ही इसका नया वैरिएंट ओमिक्रोन भी तेजी से अपना पांव पसार रहा है. अब 24 घंटे में ढाई लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं, जो कोरोना की तीसरी लहर में ऐसा पहली बार हुआ है.  हालांकि, इससे डरने की जरूरत नहीं, बस सतर्क रहने की जरुरत है. विशेषज्ञों का मानना है कि इससे सावधान रहने की जरुरत है क्योंकि राहत की बात ये है कि इस दौरान बड़ी तादाद में लोगों को अस्‍पताल में भर्ती कराने की जरूरत नहीं पड़ रही है और संक्रमित मरीज भी ठीक होकर घर लौट रहे हैं.

Also Read:

बता दें कि नेशनल कोविड-19 सुपरमाडल समिति ने कोरोना की तीसरी लहर के बारे में कहा है कि अगले महीने यानी फरवरी में तीसरी लहर पीक पर होगी. समिति ने ये भी कहा है कि हालांकि, तीसरी लहर दूसरी वेव जितनी खतरनाक नहीं होगी. एक बार ओमिक्रोन मुख्‍य वैरिएंट के तौर पर डेल्‍टा को रिप्‍लेस करना शुरू करेगा तो कोरोना के मामले तेजी से बढ़ेगे और ओमिक्रोन वैरिएंट तीसरी लहर का कारण बनेगा. देशमें निश्चित रूप में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है. लेकिन इससे भयभीत होने की जरूरत नहीं है.

डॉक्टर्स ने कहा है कि कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी दो बातों पर निर्भर करेगी. पहला, ओमीक्रोन किस हद तक उस नेचुरल इम्‍यूनिटी को बाइपास करता है, जो डेल्‍टा के संपर्क में आने से हासिल हुई है. दूसरा, यह क‍ि वैक्‍सीनेशन से प्राप्‍त इम्‍यूनिटी को कितना बाइपास करता है. इन दोनों बातों का जवाब न होने के कारण कई तरह की संभावनाएं बन रही हैं. इसके साथ ही सीरो सर्वे के अनुसर देश में तीसरी लहर दूसरी लहर जितनी खतरनाक नहीं होगी.

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में कोरोना की तीसरी लहर इसी माह के अंत तक चरम पर होने की आशंका है. इसमें रोजाना छह से आठ लाख केस सामने आ सकते हैं. हालांकि, संक्रमण की रफ्तार जितनी तेज हो रही है, उतनी ही तेजी से कम भी होगी. रिपोर्ट के मुताबिक 15 फरवरी के बाद तेजी से गिरावट देखने को मिल सकती है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें हेल्थ समाचार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 15, 2022 5:19 PM IST

Updated Date: January 15, 2022 5:28 PM IST