नई दिल्ली: राष्ट्रपति भवन ने मंगलवार को एक बयान जारी कर स्पष्ट किया है कि राष्ट्रपति भवन या सचिवालय का कोई भी कर्मचारी कोरोनावायरस से संक्रमित नहीं हुआ है. बयान में कहा गया है कि 13 अप्रैल को जिस मरीज की एक अस्पताल में कोरोना संक्रमण से जान गई, उसका राष्ट्रपति भवन से कोई संबंध नहीं है. राष्ट्रपति के उप प्रेस सचिव निमिष रुस्तगी द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, मध्य दिल्ली का एक कोविड-19 पॉजिटिव मरीज, जिसकी 13 अप्रैल, 2020 को बी. एल. कपूर अस्पताल, नई दिल्ली में मौत हो गई थी, वह न तो राष्ट्रपति सचिवालय का कर्मचारी था और न ही राष्ट्रपति एस्टेट का निवासी था. Also Read - दिल्ली में कोरोना के मामले 25 हजार के पार, 161 और मरीजों की मौत; 29.74 प्रतिशत हुई संक्रमण की दर

विज्ञप्ति में कहा गया है कि राष्ट्रपति सचिवालय के एक कर्मचारी के परिवार का सदस्य मृतक के संपर्क में था. यह जानकारी मिलने पर परिवार के सभी सात सदस्यों को 16 अप्रैल को एकांतवास केंद्र ले जाया गया. एकांतवास में जाने के बाद कर्मचारी के परिजनों में एक को, जो मृतक के संपर्क में था, कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया. हालांकि राष्ट्रपति सचिवालय के कर्मचारी सहित परिवार के अन्य सदस्य नेगेटिव पाए गए हैं. इसके बाद प्रेजिडेंट एस्टेट में मौजूद एक क्षेत्र में पड़ने वाले 115 घरों के लोगों को अपने मकान के अंदर रहने की सलाह दी गई है और उन्हें आवश्यक वस्तुएं उनके घरों में ही मुहैया कराई जा रही हैं. Also Read - VIDEO | क्या हवा के माध्यम से भी आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है कोरोना वायरस?

विज्ञप्ति में स्पष्ट किया गया है कि मंगलवार सुबह तक राष्ट्रपति सचिवालय में कोई भी कर्मचारी कोरोनावायरस से संक्रमित नहीं पाया गया है. विज्ञप्ति में बताया गया है कि स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर सचिवालय सरकार के दिशानिर्देशों के तहत आवश्यक सभी निवारक उपाय कर रहा है. अब तक राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के 2,081 मामले सामने आ चुके हैं और संक्रमण से 47 मौतें हुई हैं. Also Read - कोरोना महामारी के बीच Honda की इन कारों पर मिल रहा है Big Discount, नकद छूट से साथ और भी कई लाभ