नई दिल्लीः भारत चीन के हुबेई प्रांत से अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए दो उड़ानें संचालित करने की तैयार कर रहा है. कोरोना वायरस हुबेई प्रांत से ही फैला है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत ने चीन से अनुरोध किया है कि वह हुबेई प्रांत से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए ये दो उड़ानें संचालित करने की अनुमति दे.

उन्होंने कहा कि बीजिंग में भारतीय दूतावास जरूरी प्रचालन तंत्र के लिए चीन के प्राधिकारियों के सम्पर्क में है. कुमार ने चीन में भारतीय दूतावास द्वारा हुबेई में उन सभी भारतीय नागरिकों को किया गया अनुरोध भी साझा किया जिन्होंने अभी तक इसके लिए दिये गए हॉटलाइन या ईमेल पर सम्पर्क नहीं किया है.

चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 132 हो गई है जबकि इसके संक्रमण के 6000 पुष्ट मामले हैं. भारत ने मंगलवार को अपने 250 से अधिक नागरिकों को चीन से निकालने के लिए तैयारियां शुरू कर दी जिसमें से अधिकतर छात्र, अनुसंधानकर्ता, पेशेवर हैं जो हुबेई प्रांत में फंसे हुए हैं. ये सभी प्रांत में भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों में काम कर रहे हैं.

भारतीय दूतावास ने हुबेई में उन सभी भारतीय नागरिकों से दिये गए हॉटलाइन या ईमेल पर सम्पर्क करने की अपील की जिन्होंने अभी तक ऐसा नहीं किया है. एअर इंडिया ने हुबेई से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए 432 सीट वाले जंबो विमान को मुम्बई में तैयार रखा है.

केरल में कुल 806 लोगों को निगरानी में रखा गया है जिसमें से अस्पतालों में 10 को अलग वार्ड में रखा गया है जबकि बाकी को घरों में अन्य लोगों से दूर रखा गया है.