Coroavirus in India Latest News: भारत भर में शुक्रवार को कोविड-19 से संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 2.28 लाख हो गयी जबकि मरने वालों का आंकड़ा 6500 से अधिक हो गया. एक मई के बाद विशेष ट्रेनों से प्रवासियों के बड़े शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण इलाकों में जाने के कारण ऐसे राज्यों की संख्या दुगनी हो गयी है जहां कोरोना वायरस मामलों की संख्या एक हजार से अधिक है जबकि कुछ ऐसे राज्य भी हैं जहां यह आंकड़ा दस गुना या उससे अधिक बढ़ा है. Also Read - Patna in Under Full Lockdown: लॉकडाउन से पटना में पसरा सन्नाटा, ई-पास नहीं अब इस कार्ड से ही कर सकेंगे यात्रा

इस संख्या में इजाफे का कारण सात मई से शुरू हुई वे अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी हैं जिनमें विभिन्न देशों में फंसे प्रवासी भारतीयों को उनके गृह राज्य पहुंचाया गया. देश में 25 मई से घरेलू उड़ानों का परिचालन भी क्रमबद्ध रूप से शुरू किया गया. वर्तमान में लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने का पहला सप्ताह चल रहा है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तत्कालीन आंकड़ों के अनुसार एक मई को सुबह आठ बजे तक देश में कोविड-19 के 35 हजार मामले थे और मृतक संख्या 1150 से कम थी. Also Read - प्लाज्मा डोनेट करने वालों के लिए सरकार की अनोखी पहल, दी जाएगी 5000 रुपये की इनामी राशि

मंत्रालय के आज सुबह के आंकड़ों के अनुसार देश में इस संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या दो लाख 26 हजार 770 है तथा मृतक संख्या बढ़कर 6348 हो गयी है. एक मई से यदि तुलना की जाए तो मामलों की संख्या में छह गुना और मृतक संख्या में पांच गुना की वृद्धि हुई है. विभिन्न राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों द्वारा घोषित आंकड़ों के अनुसार पीटीआई-भाषा द्वारा संकलित तालिका में पुष्ट मामलों की संख्या दो लाख 28 हजार 38 है जबकि मृतक संख्या 6557 है. इस बीच संक्रमण से उबर चुके लोगों की संख्या एक लाख 12 हजार हो गयी है. इस हिसाब से देखें तो देश में अभी तक एक लाख 10 हजार संक्रमित व्यक्ति उपचाररत हैं. पिछले कई दिनों से मामलों की संख्या में आठ हजार या उससे अधिक की दर से वृद्धि हो रही है. Also Read - Coronavirus in Odisha: ओडिशा में 494 नए कोविड19 पॉजिटिव मरीज, संक्रमितों की संख्या 15 हजार के पार

तालिका से पता चलता है कि ऐसे राज्य, जहां संक्रमित मामलों की संख्या एक हजार या उससे अधिक है, की संख्या 19 हो गयी है जो एक मई तक केवल नौ थी. ऐसे राज्य, जिनमें ऐसे मामलों की संख्या दस हजार थी, की संख्या एक मई को केवल एक (महाराष्ट्र) थी जो अब बढ़कर तीन हो गयी है. दो अन्य राज्य दिल्ली एवं गुजरात हैं. राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में भी पुष्ट संक्रमण मामलो की संख्या नौ हजार या इससे अधिक है.

जिन राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में ऐसे मामलों की संख्या अब एक हजार या इससे अधिक है, उनमें असम, बिहार, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, केरल, ओड़िशा, पंजाब, उत्तराखंड एवं पश्चिम बंगाल हैं. झारखंड और छत्तीसगढ़ में ऐसे मामलों की संख्या 800 या इससे अधिक है. एक मई को जिन राज्यों में एक हजार से अधिक मामले थे, उनमें आंध्र प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश शामिल थे.

इस बीच महाराष्ट्र की तालिका 11 हजार से बढ़कर 80 हजार से अधिक, दिल्ली की 3700 से बढ़कर 26 हजार से अधिक और गुजरात की 4700 से बढ़कर 19 हजार से अधिक हो गयी है. ओडिशा में यह तालिका 150 से बढ़कर 2600, बिहार में 466 से बढ़कर 4600, हरियाणा में 357 से बढ़कर 3600 और पश्चिम बंगाल में 744 से बढ़कर 7300 हो गयी है.

यदि पुष्ट मामलों, उपचाररत मामलों, संक्रमण मुक्त मामलों और मृतक संख्या के आधार पर देखें तो महाराष्ट्र इस सूची में सबसे ऊपर है. उपचाररत मामलों की संख्या में दिल्ली दूसरे स्थान पर है किंतु कुल मामलों की संख्या की दृष्टि से यह तमिलनाडु के बाद तीसरे स्थान पर है. मृतक संख्या के आधार पर गुजरात दूसरे जबकि दिल्ली तीसरे नंबर पर है.

संक्रमण मुक्त मामलों की संख्या के लिहाज से महाराष्ट्र के बाद तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली और राजस्थान का नंबर है. केन्द्र एवं राज्य सरकार, फिलहाल उन दिशानिर्देशों को बनाने की प्रक्रिया में लगी हैं ताकि 25 मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन में लगाये गये प्रतिबंधों को चरणबद्ध ढंग से हटाया जा सके.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि धार्मिक स्थलों, शापिंग मॉल, रेस्त्रां, होटल एवं कार्यालयों के लिए जो मानक परिचालन प्रक्रिया बनायी गयी है उनका उद्देश कोविड-19 प्रसार की श्रृंखला पर लगाम लगाने के लिए लोगों के लिए उचित बर्तावों का सुझाव देना है. इसी के साथ साथ सामाजिक एवं आर्थिक गतिविधियों की बहाली करना भी इसका उद्देश्य है.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने धार्मिक स्थलों, शापिंग मॉल, रेस्त्रां, होटल एवं कार्यालयों के लिए बृहस्पतिवार को मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की थी. इनमें से कई क्षेत्र पहले से ही खुल चुके हैं जबकि कुछ सोमवार को खोले जाने हैं.

असम के गुवाहाटी केंद्रीय कारागार में एक कैदी के संक्रमित पाए जाने के बाद उसे सील कर दिया गया. राज्य में एक मई को करीब 40 लोग संक्रमित थे, लेकिन अब यह संख्या 2,150 से अधिक हो गई है. उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के करीब 500 नए मामले सामने आने के साथ राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,733 हो गई है. वहीं इस अवधि में 12 और संक्रमितों की मौत हुई है.

स्वास्थ्य विभाग की ओर से देर शाम जारी बुलेटिन में बताया गया कि उत्तर प्रदेश में संक्रमण की वजह से 12 और लोगों की मौत के साथ ही अब तक 257 लोग इस महामारी में अपना जान गवां चुके हैं. उत्तराखंड में कोरोना वायरस के 62 मरीजों की पुष्टि हुई, जिसके बाद प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,215 हो गई है. केन्द्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कोविड-19 के पांच नए मामले आने के साथ ही यहां कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या 100 पार कर गई है.

नगालैंड में 14 लोग कोविड​​-19 से संक्रमित पाये गए जिसके बाद राज्य में कोरोना वायरस के कुल मामले 94 हो गए हैं. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,436 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 80,229 हो गई. इसके अलावा राज्य में कोरोना वायरस से 139 और लोगों की मौत के साथ ही इस महामारी से राज्य में मरने वालों की संख्या 2,849 हो गई है.

गुजरात में बृहस्पतिवार शाम से कोविड-19 के 510 नए मामले सामने आए जो कि एक दिन में सर्वाधिक बढ़ोतरी है. वहीं संक्रमण से 35 और लोगों की मौत हो गई. राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 19,119 हो गए जबकि 35 और मौतें होने से मृतक संख्या बढ़कर 1,190 हो गई. पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को कोविड-19 से 11 और लोगों की मौत होने के बाद, इस महामारी की वजह से जान गंवाने वालों की कुल संख्या 294 हो गई है, वहीं एक दिन में संक्रमण के सर्वाधिक 427 नए मामले आने के साथ कुल संक्रमित लोगों की संख्या 7,303 पहुंच गई है.

कर्नाटक में एक दिन में कोविड-19 के 500 से अधिक मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 4,835 हो गई है. तमिलनाडु में कोविड-19 के मामलों में तीव्र वृद्धि जारी है. राज्य में संक्रमण के 1,438 नये मामले सामने आने से शुक्रवार को कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़ कर 28,694 हो गये, जबकि इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 232 हो गई है.

केरल में पहली बार किसी एक दिन में कोरोना वायरस के एक सौ से अधिक नए मामले सामने आए और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने स्थिति को गंभीर बताया. राज्य में कोरोना वायरस के 111 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,699 हो गयी. राज्य में 1.77 लाख लोग निगरानी में हैं.