Coronavirus News In Hindi: देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. भारत में कोरोना वायरस से 56 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं वहीं, अब तक 90 हजार से ज्यादा की मौत हो चुकी है. बुधवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry Of Health) की तरफ से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों में देश में कोरोना के 83 हजार 347 नए मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं, इस दौरान 1,085 लोग इस जानलेवा वायरस से शिकार बने हैं.Also Read - चीन में फिर बढ़ा कोरोना का खतरा, बीजिंग समेत कई शहरों में तेजी से फैल रहा डेल्टा वेरिएंट

Also Read - केंद्र ने वंचितों, भिखारियों के लिए विशेष टीकाकरण सत्र आयोजित करने को कहा, राज्यों को लिखा खत

इसके साथ ही देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 56,46,011 पहुंच गया है और अब तक 90, 020 लोग इस जानलेवा वायरस के शिकार बन चुके हैं. भारत में अभी फिलहाल 9,68,377 एक्टिव मामले हैं वहीं, 45,87,614 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. Also Read - कोरोना का डेल्टा वेरिएंट बेहद खतरनाक, चेचक की तरह आसानी से बन सकता है गंभीर संक्रमण का कारण- रिपोर्ट

इन सबके बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना संकट के मुद्दे पर बैठक करेंगे और इन राज्यों की मौजूदा स्थिति की समीक्षा करेंगे. बता दें कि कोरोना के 63% एक्टिव मामले इन सात राज्यों में हैं.

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के अलावा आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, दिल्ली और पंजाब के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री भी इस बैठक में शामिल होंगे. देश में कोरोना के कुल पुष्ट मामलों का 65.5 फीसदी और कुल मृत्यु के 77 फीसदी मामले भी इन्हीं राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से हैं.

बयान में कहा गया, ‘अन्य पांच राज्यों के साथ-साथ पंजाब और दिल्ली में हाल ही में कुल मामलों की संख्या में काफी तेज वृद्धि दर्ज की गई है. महाराष्ट्र, पंजाब और दिल्ली में मृतकों की संख्या भी काफी बढ़ी है. इन राज्यों में मृत्यु दर दो प्रतिशत से अधिक है जो कि मृत्यु दर का उच्च औसत है. पंजाब और उत्तर प्रदेश के अलावा उनकी संक्रमण की पुष्टि दर राष्ट्रीय औसत 8.52 प्रतिशत से अधिक है.’

(इनपुट: एजेंसी)