नई दिल्ली: कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में अपने पड़ोसी देशों की मदद के लिए भारत अपनी सेना को भेजेगा. श्रीलंका, बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान को कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों से निपटने में सहायता करने के लिए भारतीय सेना अलग-अलग दल बनाकर इन देशों में भेजने की तैयारी कर रही है. Also Read - PM Modi on Lockdown: लॉकडाउन को लेकर पीएम ने कही ये बात, 10 प्वाइंट्स में जानिए संबोधन का सार

मडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले महीने भारतीय सेना के 14 सदस्यीय एक दल को मालदीव में कोरोना वायरस जांच प्रयोगशालाएं स्थापित करने और स्थानीय स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित करने के लिए भेजा गया था. वहीं इस महीने की शुरुआत में भारत ने सेना के 15 सदस्यीय एक दल को द्विपक्षीय सहयोग के तहत कुवैत भेजा था. Also Read - Complete Lockdown In Chandigarh: चंडीगढ़ में कल पूर्ण लॉकडाउन, वीकेंड लॉकडाउन भी बरकरार

अब खबरे हैं कि भारत अपने मित्र देशों में महामारी से लड़ने के लिए सहायता प्रदान करने की नीति के तहत श्रीलंका, बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान भेजे जाने के लिए दलों को तैयार किया जा रहा है. दक्षेस क्षेत्र में महामारी से लड़ने के लिए साझा कार्यक्रम बनाने के वास्ते भारत मुख्य भूमिका निभा रहा है. Also Read - PM Narendra Modi's Address To Nation Live: पीएम मोदी का बड़ा बयान- देश को लॉकडाउन से बचाना है

वर्तमान में दक्षेस के सभी सदस्य देश कोविड-19 महामारी का सामाजिक और आर्थिक दंश झेलने पर मजबूर हैं. संकट के समय मित्र देशों की सहायता करने की नीति के तहत भारत ने अमेरिका, मॉरिशस और सेशेल्स समेत 55 देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की आपूर्ति की है. बता दें कि भारत ने पड़ोसी देशों अफगानिस्तान, भूटान, बांग्लादेश, नेपाल, मालदीव, मॉरिशस, श्रीलंका और म्यांमार को भी दवाएं भेजी हैं.

(इनपुट भाषा)