Coronavirus Latest Updates in India: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister of india Rajnath Singh) ने शुक्रवार को कोरोना से लड़ने के लिए सभी तीन सशस्त्र बलों के शीर्ष अधिकारियों को आपातकालीन वित्तीय अधिकार प्रदान किए। रक्षा मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि ये पिछले हफ्ते सशस्त्र बलों के चिकित्सा अधिकारियों को सौंपी गई आपातकालीन शक्तियों के अलावा हैं। विशेष प्रावधानों के तहत, राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों को सशक्त बनाने और देश में मौजूदा कोविड -19 स्थिति पर अपने प्रयासों को तेज करने के लिए आपातकालीन शक्तियां प्रदान कीं।Also Read - Uttarakhand Assembly Election 2022: टिहरी और चमोली में आज तीन जगह चुनावी सभाएं करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

बयान में कहा गया है, “ये शक्तियां संगोष्ठी सुविधाओं/अस्पतालों को स्थापित करने और संचालित करने और उपकरण/वस्तुओं/सामग्रियों/ दुकानों की खरीद/मरम्मत का काम करने के अलावा विभिन्न सेवाओं के प्रावधान और महामारी के खिलाफ चल रहे प्रयासों का समर्थन करने के लिए आवश्यक कार्यो में मदद करेगी।” Also Read - Omicron Variant Update: कोरोना के नए घातक वेरिएंट ने देशभर में फैलाया डर का माहौल, यहां जानिए सबकुछ | Watch Video

तीन सशस्त्र बलों के वाइस चीफ, जिसमें चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (सीआईएससी) के चीफ इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के चीफ और जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (जीओसी-इन-सीएस) शामिल हैं और तीनों सेवाओं में समकक्षों को पूर्ण शक्तियां प्रदान की गई है। Also Read - Leh में गूंजा 'वाहे गुरुजी का खालसा-वाहे गुरुजी की फतेह' दिल में जोश भर देगा देश के वीर जवानों का ये VIDEO

मंत्रालय ने कहा, “कोर कमांडर्स/एरिया कमांडरों को 50 लाख रुपये तक प्रति केस और डिवीजन कमांडरों/सब एरिया कमांडरों और समकक्षों को 20 लाख रुपये प्रति केस तक अधिकार दिए गए हैं।”

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि कदम नागरिक प्रशासन के प्रयासों को बढ़ाएगा। इन शक्तियों को शुरू में 1 मई से 31 जुलाई तक तीन महीने की अवधि के लिए विकसित किया गया है। (आईएएनएस)