जयपुर: राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के लालगढ़ जाटान थाना क्षेत्र में लॉकडाउन के दौरान मंगलवार को बिना अनुमति बारात निकालने पर पुलिस ने उन्हें रोका और दूल्हे को एक पर्चा थमा दिया. उल्लेखनीय है कि राज्य में 22 मार्च से लॉकडाउन है, धारा 144 लागू है जिसके तहत पांच से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी है. थानाधिकारी कश्यप सिंह ने बुधवार को बताया कि साधूवाली जा रही दो कारों को नाकाबंदी के दौरान रोक कर पूछताछ की गई. दोनों कारों में दूल्हे सहित करीब 10-11 बाराती साधूवाली जा रहे थे. Also Read - COVID-19: हांगकांग ने भारत से आने वाली फ्लाइट्स कल से 3 मई तक के लिए स्थगित कीं

उन्होंने बताया, ‘24 वर्षीय दूल्हा अमरजीत बावरी से शादी की अनुमति के बारे में पूछताछ करने पर कोई दस्तावेज नहीं मिला. इसलिए कोरोना वायरस के संबंध में उन्हें जागरुक करने के उद्देश्य से एक पर्चा थमाया गया, जिस पर लिखा था ‘मैं समाज का दुश्मन हूं. किसी के कहने पर घर नहीं बैठूंगा. मैं खुद मरूंगा और सबको मारूंगा.’ उन्होंने बताया कि इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है और उन्हें समझाईश के बाद गंतव्य स्थान के लिये जाने दिया गया. Also Read - Rajasthan Lockdown Guidelines: राजस्थान में 3 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, क्या-क्या खुलेगा और कहां रहेगी पाबंदी; 10 बातें...

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए सरकार ने देशभर में लॉकडाउन लगाया है. यह कर्फ्यू जैसा ही है. इस कारण पुलिसकर्मी सड़कों पर हालात खराब न हो या फिर कानून व्यवस्था का पालन हो इसलिए लगातार ड्यूटी पर तैनात हैं. अब तक भारत में कोरोना से कुल 10 लोगों की जान जाने की पुष्टि की जा चुकी है. Also Read - व्यापारियों ने चांदनी चौक समेत कई अन्य बाजारों को बंद रखने का किया फैसला, CM केजरीवाल से 15 दिन के Lockdown की अपील