नई दिल्‍ली: गुजरात में Coronavirus Lockdown के दौरान मंगलवार को सूरत शहर में सुबह हजारों मजदूरों ने प्रदर्शन किया और पथराव किया. मिली जानकारी के मुताबिक, सूरत में बन रहे डायमंड बुश में आज सुबह हजारों मजदूरों ने जमकर हंगामा किया और पत्‍थर फेंके. इससे डायमंड बुश के कार्यालय में तोड़फोड़ हुई नजर आ रही है. Also Read - कोविड-19 से ठीक होने के बाद तिहाड़ जेल भेजा गया गैंगस्टर Chhota Rajan

एएनआई के मुताबिक, सूरत में सुबह हजारों मजदूरों ने गांव वापस भेजने की मांग को लेकर डायमंड बुश के ऑफिस पर भी पथराव किया. यहां मौजूद हजारों मजदूरों ने आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन में भी उनसे काम कराया जा रहा है. श्रमिकों ने मांग की है कि उन्‍हें उनके घर वापस भेजने की व्‍यवस्‍था की जाए. Also Read - देश में Lockdown जैसी पाबंदियों का दिखने लगा असर! महाराष्ट्र, दिल्ली समेत 18 राज्यों में नए केस में कमी- जानें अपने राज्य का हाल...

हालांकि, इससे एक दिन पहले सूरत से 150 प्रवासी कामगार ओडिशा के लिए सोमवार को रवाना किया गया. सूरत में फंसे करीब 150 प्रवासी कामगारों को लेकर तीन निजी बसें सोमवार को ओडिशा के लिए रवाना हुईं. कामगारों को निकालने की प्रक्रिया सूरत जिला प्रशासन ने बसों को प्रवासी मजदूरों को ओडिशा स्थित पैतृक निवास पहुंचाने की अनुमति देने के बाद शुरू की. 150 कामगारों को उनके गृह नगर पहुंचाने के लिए सूरत से रवाना हुई तीन बसों के दो दिनों में ओडिशा पहुंचने की उम्मीद हैं.