नई दिल्ली: पूरी दुनिया इन दिनों कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है. भारत में भी कोरोना अब अपने पैर पसारने लगा है. इस बीच सरकार की तरफ से लॉकडाउन के बीच ओडिशा सरकार ने कहा है कि वह देश में COVID-19 के सबसे बड़े अस्पताल का निर्माण करेगा ताकि कोरोना संक्रमित लोगों का इलाज किया जा सके. इस अस्पताल में 1000 बेड्स की क्षमता होगी. ऐसा करने के साथ ही ओडिशा देश का पहला राज्य होगा जो COVID-19 संक्रमित लोगों के इलाज के लिए इस तरह के अस्पताल को स्थापित करेगा. Also Read - What are the Symptoms of Coronavirus? क्या फेफड़े से इतर अन्य अंगों को भी खराब कर रहा COVID-19

इस अस्पताल को शुरु करने के लिए ओडिशा सरकार, कार्पोरेट्स और मेडिकल कॉलेजों के बीच एक त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किया गया है. इसी कड़ी में बुधवार के दिन ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से डॉक्टरों, नर्सों और अन्य पैरामेडिकल स्टाप के लिए चार महीने के अग्रिम वेतन की घोषणा की थी. Also Read - Coronavirus Cases In UP: यूपी में टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, एक दिन में 68 लोगों की मौत

सीएम ने एक वीडियो संदेश में कहा, राज्य भर के डॉक्टर, नर्स और सभी स्वास्थ्य कर्मियों को अप्रैल, मई, जून और जुलाई के महीने में उनका वेतन मिलेगा. स्वास्थ्य कर्मियों की प्रतिबद्धता की सराहना करते हुए, पटनायक ने कहा, “लोगों के लिए आपकी (डॉक्टर, नर्स और अन्य स्टाफ) निस्वार्थ सेवा की कोई तुलना नहीं है. मैं और उड़ीसा के लोग आपके और आपके परिवारों के साथ हैं. मैं आपके जज्बे को सलाम करता हूं.