मुम्बई/नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को बताया कि 44 भारतीय जायरीनों का दूसरा दल कोरोना वायरस प्रभावित ईरान से स्वदेश लौट आया है. एक अधिकारी ने बताया कि ईरान में फंसे भारतीय जायरीनों को ले कर ‘ईरान एयर’ का विमान शुक्रवार दोपहर मुंबई में उतरा. Also Read - राजस्थान में कोरोना से एक और व्यक्ति ने तोड़ा दम, प्रदेश में संक्रमितों का आंकड़ा 210 पर पहुंचा 

नौसेना के एक अधिकारी ने बताया कि इन लोगों को घाटकोपर में नौसेना के पृथक केन्द्र में ले जाया गया. पहले इन्हें राजस्थान के जैसलमेर में सेना के पृथक केन्द्र में ले जाने की योजना थी. ईरान कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक है और सरकार वहां फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए लगातार काम कर रही है. Also Read - Covid-19 : उत्तर प्रदेश के इस शहर से एक और तबलीगी जमाती पाया गया कोरोना पॉजिटिव

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘44 भारतीय जायरीनों का जत्था ईरान से आज आ गया. बाकी लोगों को वापस लाने के प्रयास जारी हैं. ईरान में भारतीय दूतावास और हमारा चिकित्सा दल बेहतर काम करते रहें हैं. हम ईरानी अधिकारियों और उनकी एयरलाइन्स के सहयोग की सराहना करते हैं.’’ Also Read - जमातियों ने कानपुर अस्पताल के कर्मचारियों संग किया दुर्व्यवहार, हटाई गईं महिला नर्सें

ईरान से 58 भारतीय श्रद्धालुओं का पहला जत्था मंगलवार को लौटा था. मुंबई हवाई अड्डा संचालक एमआईएएल ने एक बयान में कहा,‘‘ईरान एयर का विशेष विमान आईआर810 कोविड19 से प्रभावित ईरान से 44 भारतीयों को ले कर तेहरान से आज 12:07 बजे सीएसएमआईए पर उतरा.’’

बयान में कहा गया,‘‘सभी यात्रियों और चालक दल के सदस्यों की एपीएचओ ने एक पृथक स्थान में जांच की और उन्हें 14 दिन पृथक रखने के लिए विमान से सीधे घाटकोपर के भारतीय नौसेना प्रतिष्ठान में ले जाया गया.’’ विदेश मंत्री ने बृहस्पतिवार को कहा था कि 6000 से अधिक भारतीय ईरान के विभिन्न प्रांतों में फंसे हैं.

(इनपुट भाषा)