नई दिल्ली: डिजिटल भुगतान से संबंधित कंपनी पेटीएम ने शनिवार को कहा कि उसका ‘प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष’ (पीएम केयर्स) में 500 करोड़ रुपए का योगदान देने का लक्ष्य है. Also Read - Patna in Under Full Lockdown: लॉकडाउन से पटना में पसरा सन्नाटा, ई-पास नहीं अब इस कार्ड से ही कर सकेंगे यात्रा

पेटीएम ने एक बयान में कहा कि पेटीएम का वालेट, यूपीआई और पेटीएम बैंक डेबिट कार्ड इस्तेमाल करके पेटीएम के जरिए दिए गए हर योगदान या अन्य किसी भी भुगतान के लिए कंपनी अतिरिक्त 10 रुपए का योगदान देगी. Also Read - प्लाज्मा डोनेट करने वालों के लिए सरकार की अनोखी पहल, दी जाएगी 5000 रुपये की इनामी राशि

पेटीएम अध्यक्ष मधुर देवड़ा ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए उठाए गए सभी राहत कदमों में सरकार की मदद करके अपना कर्तव्य पूरा करना हमारे लिए सम्मान की बात है. हम उम्मीद करते हैं कि लोग खुलकर पीएम केयर्स के लिए दान देंगे और जिंदगियां बचाएंगे.’’ Also Read - Coronavirus in Odisha: ओडिशा में 494 नए कोविड19 पॉजिटिव मरीज, संक्रमितों की संख्या 15 हजार के पार

बता दें कि टाटा समूह ने भी शनिवार को कोरोना वायरस महामारी का मुकाबला करने के लिए 1,500 करोड़ रुपये की सहायता देने का संकल्प घोषित किया. टाटा समूह की कंपनियों की होल्डिंग फर्म टाटा संस ने कोविड-19 महामारी को रोकने और उससे संबंधित गतिविधियों के लिए 1000 करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की, जबकि इससे पहले टाटा ट्रस्ट ने 500 करोड़ रुपये देने का वचन दिया था.

टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने एक बयान में कहा कि समूह जरूरी वेंटिलेटरों का इंतजाम भी कर रहा है और जल्द ही भारत में भी इसका निर्माण करने की तैयारी कर रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों में कोविड-19 के प्रकोप से मौजूदा स्थिति बेहद चिंताजनक है और इसके लिए हमारी तरफ से बहुत बड़े स्तर की कार्रवाई की आवश्यकता है.’’