चेन्नई: तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने सुबह घोषणा की कि आवश्यक दुकानें आज दोपहर 3 बजे तक ही खुली रहेंगी. पलानीस्वामी ने पांच शहरों में टोटल लॉकडाउन के आदेश के मद्देनजर कहा कि शनिवार को आवश्यक दुकानें दोपहर 3 बजे तक खुलेंगी. लॉकडाउन के दौरान आवश्यक दुकानों को सुबह 6 बजे से 1 बजे के बीच कार्य करने की अनुमति दी गई. इस घोषणा के बाद लोगों में जरूरी सामान खरीदने की अफरा-तफरी मच गई. लोग लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए बाहर निकले और जरूरी सामान खरीदने लगे. दरअसल घनी आबादी वाले शहरों में कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए पलानीस्वामी ने शुक्रवार को चेन्नई, कोयम्बटूर, तिरुप्पुर, सलेम और मदुरै में पूरी तरह से लॉकडाउन का आदेश दिया. Also Read - देश में लगा करीब एक लाख लोगों की मौत का अंबार, लेकिन टेंशन फ्री होकर गोल्फ खेलते दिखे डोनाल्ड ट्रंप

पलानीस्वामी द्वारा शुक्रवार को राज्य में फैले कोरोनोवायरस की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता के बाद यह निर्णय लिया गया. डीएमके के अध्यक्ष एम के स्टालिन ने राज्य सरकार से शनिवार को दुकान का समय बढ़ाने का अनुरोध भी किया था ताकि लोग आवश्यक वस्तुओं को खरीद सकें. पलानीस्वामी ने कहा कि 26 से 29 अप्रैल तक चेन्नई, कोयम्बटूर और मदुरै में लॉकडाउन को सुबह 6 बजे से 9 बजे के बीच सख्ती से लागू किया जाएगा. Also Read - खुशखबरी! बिहार में जून के पहले हफ्ते से सड़क पर फिर से दौड़ेंगी बसें, चरणबद्ध रूप में शुरू होगी सेवा

उन्होंने कहा, 26 से 28 अप्रैल के बीच तिरुप्पुर और सलेम में सुबह 6 बजे से रात 9 बजे के बीच लॉकडाउन जारी रहेगा. उनके अनुसार, राज्य में दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्रों की सफाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि सॉफ्टवेयर कंपनियों के लिए केवल घर से काम करने की अनुमति है और अन्य निजी कंपनियों को इन पांच जिलों में काम नहीं करना चाहिए. Also Read - बैकयार्ड में शैडो प्रैक्टिस से बोर हुआ ऑस्ट्रेलियाई धाकड़ बल्लेबाज, वीडियो शेयर कर बताई आपबीती

मुख्यमंत्री ने केवल निम्नलिखित कार्य करने की अनुमति देते हुए पंजीकरण विभाग के कार्यालयों को बंद करने का आदेश दिया. इनमें अस्पताल, डायग्नोस्टीक टेस्ट लैब, फार्मेसियों, एम्बुलेंस सेवाएं शामिल हैं. राज्य सचिवालय, स्वास्थ्य, राजस्व, आपदा प्रबंधन, बिजली, दूध, जल आपूर्ति विभागों में आवश्यक सेवा विभाग. 33 प्रतिशत कर्मचारियों की संख्या के साथ अन्य केंद्र और राज्य सरकार के कार्यालय.

सरकार अम्मा कैंटीन, एटीएम चलाएगी. वृद्धाश्रम और अनाथालय. जिला/ स्थानीय प्रशासन द्वारा संचालित सामुदायिक रसोई. सरकारी अनुमति के साथ गरीबों के लाभ के लिए सेवा संगठन और सब्जी बाजार, मोबाइल सब्जी की दुकानें नियमों के अधीन चलेंगी. शुक्रवार को तमिलनाडु में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 22 हो गई.

(इनपुट आईएएनएस)