नई दिल्‍ली: देश में कोरोना वायरस के 28 मामलों की पुष्टि होने के बीच राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रपति भवन सुरक्षा पहलू को ध्यान में रखते हुए इस साल पारंपरिक होली समारोहों का आयोजन नहीं करेगा. Also Read - 'कोरोना वायरस को जैविक हथियार बनाकर युद्ध लड़ना चाहता था चीन, 2015 में किया था टेस्ट'

प्रेसिडेंट कोविंद ने कहा, ”सतर्कता और सुरक्षा उपायों के साथ, हम सभी COVID-19 नोवेल कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने में मदद कर सकते हैं. एहतियाती उपाय में राष्ट्रपति भवन पारंपरिक होली समारोहों को आयोजित नहीं करेगा.” Also Read - कोरोना वायरस से संक्रमित सपा सांसद आजम खान की तबियत बिगड़ी, बेटे सहित लखनऊ के अस्पताल में भेजा गया

इससे पहले दिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा कि उन्होंने कोरोनोवायरस के प्रकोप को देखते हुए किसी भी होली मिलन कार्यक्रम में भाग नहीं लेने का फैसला किया है. पीएम मोदी ने कहा, ”दुनिया भर के विशेषज्ञों ने COVID-19 नोवेल कोरोनावायरस के प्रसार से बचने के लिए सामूहिक समारोहों को कम करने की सलाह दी है. इसलिए, इस साल मैंने किसी भी होली मिलन कार्यक्रम में भाग नहीं लेने का फैसला किया है.”

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि देश में घातक वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 28 हो जाने के कारण 22 नए कोरोनोवायरस के मामले सामने आए हैं.

कोरोना वायरस की दहशत के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नक्शे-कदम पर चलते हुए इस साल ‘व्यापक जनहित’ में होली मिलन समारोहों से दूर रहने का फैसला किया है.

योगी  ने बुधवार को ट्वीट किया ‘मैं भी होली मिलन जैसे पवित्र आयोजन से व्यापक जनहित में दूर रहूंगा. सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें.’

सीएम योगी एक अन्य ट्वीट में कहा ‘कोरोना वायरस Corona virus एक संक्रामक वायरस है और इसका संक्रमण एक दूसरे से फैलता है, इसलिए उपचार से महत्वपूर्ण है बचाव. मेरी सभी प्रदेशवासियों से अपील है कि सामाजिक समारोहों में जाने से बचें और अपनी व अपने परिवार की अच्छी देखभाल जिम्मेदारी के साथ करें.’