जयपुर: देश और दुनियाभर में इस समय कोरोना वायरस का ख़ौफ़ बना हुआ है. हर रोज़ पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है. ऐसे में केंद्र सरकार और कई राज्य के सरकार अलग अलग तरीकों से इससे निपटने की कोशिश कर रहे हैं. हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस ने कहा कि कोरोना वायरस ‘मानवता का दुश्मन’ है, जिसकी चपेट में दो लाख से अधिक लोग आ गए हैं. इसी के मद्देनज़र राजस्थान सरकार ने सार्वजनिक परिवहन सेवाओं का इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए इन वाहनों को अच्छी तरह से साफ करने के दिशा निर्देश जारी किए हैं. Also Read - Covid 19 लॉकडाउन के बीच रात में 40 लोगों ने ग्रुप में मस्जिद में नमाज अदा की, FIR दर्ज

परिवहन आयुक्त एवं शासन सचिव रवि जैन ने कहा कि सभी वाहन स्वामी, बस चालक एवं परिचालक गाड़ी को उपयोग में लेने से पहले एवं प्रतिदिन दो से तीन बार इनकी सतहों को नियमित तथा उचित रूप से सोडियम हाइपोक्लोराइट से विसंक्रमित करें. Also Read - Coronavirus: गर्भवती हैं तो ऐसे रखें अपना Diet Plan, क्या खाएं क्या नहीं, बची रहेंगी कोरोना से...

उन्होंने बताया सभी चालकों एवं परिचालकों को वाहन के खिड़की व दरवाजों, दरवाजों के हैण्डल, सीट के हत्थे, सीट, रेलिंग, हैंडग्रिप, लगेज बॉक्स/रैक व अन्य स्थान जहां किसी व्यक्ति के छूने की सम्भावना हो, की सोडियम हाइपोक्लोराइट द्वारा अच्छे से सफाई करने को कहा गया है. Also Read - Coronavirus से निपटने में भारत अपने मित्रों की हरसंभव मदद के लिए तैयार है: PM मोदी

उन्हें यह भी निर्देश दिए गए हैं कि अगर बस में कोई विदेशी यात्री है तो उनसे स्व-घोषणा पत्र भरवाकर चिकित्सा विभाग को उपलब्ध करवाएं. वाहन स्वामी एवं परमिट धारक को बस के चालक और परिचालक के लिये मास्क तथा दस्ताने और वाहनों में सेनेटाइजर आदि उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया गया है.

यह भी निर्देश दिया गया है कि चालक, परिचालक मास्क का उपयोग करें तथा गाड़ी में क्षमता से अधिक सवारियों को किसी भी स्थिति में न बैठाएं. बस में बैठाते समय एक यात्री से दूसरे यात्री के मध्य एक मीटर की दूरी सुनिश्चित करें. इसके लिए विभाग की ओर से स्टीकर बनाकर प्रत्येक बस में चिपकाएं जा सकते हैं.