कानपुर: अस्पताल कर्मियों के साथ तब्लीगी जमात के सदस्यों द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने का एक और मामला अब कानपुर से सामने आया है. उपचार के लिए यहां के एक अस्पताल में भर्ती कुछ कोविड-19 संक्रमित संदिग्धों ने कर्मचारियों के साथ बदतमीजी की है. कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल में भर्ती जमातियों ने कथित तौर पर दवा लेने से इनकार कर दिया और चिकित्सा कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार किया, जिसके बाद अधिकारियों को वहां से महिला कर्मचारियों हटाना पड़ा.Also Read - Coronavirus cases In India: कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामले हुए बेहद कम, 13,058 लोग हुए संक्रमित

अस्पताल की एक वरिष्ठ डॉक्टर आरती लालचंदानी ने कहा, “हमारी टीम यहां भर्ती होने वालों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने में लगी हुई है. उन्हें अस्पताल में नहीं थूकने के लिए कहा गया, लेकिन वे हमारे निर्देशों को पालन नहीं कर रहे हैं और अपने हाथों पर थूकने के बाद फिर सीढ़ी की रेलिंग को छू रहे हैं. उन्होंने डॉक्टरों के साथ भी दुर्व्यवहार किया.” Also Read - Coronavirus cases In India: कोरोना संक्रमण के दैनिक मामले पहुंचे 13,596, एक्टिव मामले हुए 2 लाख से कम

उन्होंने आगे कहा, “जमातियों को चावल, दाल और पनीर दिया गया था, जिसे उन्होंने खाने से इनकार कर दिया और अब वे मांसाहारी भोजन मांग रहे हैं. वे अच्छे कपड़े और बेहतर सुविधाओं दिए जाने की भी मांग कर रहे हैं.” डॉक्टर आरती लालचंदानी ने आगे कहा, “हालांकि, पुलिस के हस्तक्षेप के चलते अब स्थिति नियंत्रण में आ गई है.” मुख्य चिकित्सा अधिकारी अशोक शुक्ला ने कहा कि 22 में से छह जमाती सदस्यों में कोविड-19 वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. सभी 22 लोगों को मंगलवार और बुधवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सभी व्यक्ति उन हजारों लोगों में से हैं, जिन्होंने तब्लीगी जमात के नई दिल्ली मुख्यालय में एक धार्मिक कार्यक्रम में भाग लिया था, जिसे अब कोविड-19 संक्रमण के प्रसार के एक केंद्र के रूप में देखा जा रहा है. Also Read - Mumbai Coronavirus Update: मुंबई में 20 महीनों में पहली बार कोविड से कोई मौत नहीं, पूरे महाराष्ट्र में 1715 नए मामले सामने आए