नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी, उनके सहयोगी, मंत्रिमंडल, सांसद और विधायकों का विधानसभा परिसर में कोरोना टेस्ट किया गया. ऐसा पुडुचेरी सरकार के फैसले के बाद किया गया. खबरों की मानें तो राज्य के नेता-मंत्री कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते खौफजदा थे. इस कारण कोरोना टेस्ट करने का फैसला किया गया. Also Read - PM Modi on Lockdown: लॉकडाउन को लेकर पीएम ने कही ये बात, 10 प्वाइंट्स में जानिए संबोधन का सार

बता दें कि पुडुचेरी में कोरोना के कुल 7 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 3 लोगों का इलाज कर उन्हें ठीक कर दिया गया है, वहीं अन्य 4 लोगों का इलाज किया जा रहा है. यहां कोरोना से मरने वालों की एक भी पुष्टि नहीं की हुई है. बता दें कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मल्लादी कृष्ण राव ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए का कि इस जांच की रिपोर्ट 25 अप्रैल की सुबह 11 बजे तक आएगी. Also Read - Complete Lockdown In Chandigarh: चंडीगढ़ में कल पूर्ण लॉकडाउन, वीकेंड लॉकडाउन भी बरकरार

देश व राज्य में कोरोना के मामलों में हो रहे वृद्धि पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वे व उनके सरकार के लोग कई जगहों पर सिर्फ इसलिए घूम रहे हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है या नहीं. बता दें कि राज्य में अभी रैपिड टेस्ट के उपयोग पर रोक लगाई गई है.