नई दिल्लीः देश में दिन पर दिन कोरोना वायरस के मरीज बढ़ते जा रहे हैं. लॉकडाउन के बाद भी देश में इस महामारी (Coronavirus Epidemic) से संक्रमितों की संख्या 3 लाख के ऊपर पहुंच गई है. वहीं लॉकडाउन के खुलने के बाद से देश में इस महामारी का खतरा तेजी से बढ़ा है. ऐसे में कुछ ऐसी भी रिपोर्ट्स सामने आई हैं, जिनमें कहा जा रहा है कि, देश में संक्रमितों (Coronavirus Positive Patient in India) की संख्या सामने आए आंकड़ों से कहीं अधिक है. इन रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3 लाख 9 हजार से काफी ज्यादा है और इन आंकड़ों को छुपाया जा रहा है. कई जगह तो टेस्टिंग को भी घटा दिया (Testing level reduces) गया है, जिससे कि पॉजिटिव मरीजों की संख्या भी कम ही दिखाई दे. Also Read - बाल ठाकरे के स्मारक के स्थान पर अस्पताल बनना चाहिए: AIMIM सांसद

जैसे कि दिल्ली (Delhi COVID-19 Positive Patient) में 3 जून से 11 जून के बीच, रोजाना होने वाले परीक्षण के सात-दिन का औसत 6,540 से घटकर 5,001 हो गया है, जबकि पॉजिटिव मरीजों की दर 18.3% से बढ़कर 27.7% हो गई. बता दें दिल्ली में अब तक जो भी टेस्ट हुए हैं, उनमें से अधिकतम मरीज कोरोना पॉजिटिव निकले हैं. मतलब नकारात्मक केसों में से सकारात्मक केस अधिक हैं. Also Read - Punjab Lockdown Extension News: जमावड़े पर लगी रोक, शादी समारोह में केवल इतने लोग होंगे शामिल

दिल्ली में अभी तक 34,687 कोरोना के कन्फर्म केस मिले हैं, जिनमें से 1,085 मरीजों (Death Toll due to Coronavirus In Delhi) की मौत हो चुकी है. Also Read - PM मोदी ने सुंदर पिचाई से की वीसी, गूगल भारत में 10 बिलियन डॉलर का निवेश करेगा

वहीं महाराष्ट्र (Maharashtra COVID-19 Test) में भी हालात कुछ ठीक नहीं हैं. राज्य में अभी तक 1 लाख के करीब कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. जिनमें से 55 प्रतिशत के करीब मरीज अकेले मुंबई (COVID-19 Patients In Mumbai) में हैं. बात करें टेस्टिंग की तो महाराष्ट्र में भी टेस्टिंग दर में काफी कमी आई है.

राज्य में 29 मई से 6 जून के बीच टेस्ट की संख्या 14,497 से घटकर 12,764 हो गई. जबकि, राज्य में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में दिन पर दिन तेजी आ रही है. राज्य में हो रहे कोरोना वायरस टेस्ट में हर पांच में से 1 मरीज पॉजिटिव पाया जा रहा है. यही हाल गुजरात, ओडिशा और अन्य राज्यों के भी हैं.