पणजी: गोवा में कोरोना वायरस से बुधवार को तीन लोग संक्रमित पाए गए. इन तीनों की विदेश यात्रा का इतिहास है. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पहली बार इस राज्य में कोरोना वायरस के मामले सामने आए है. उन्होंने बताया कि तीनों मरीजों की उम्र क्रमश: 25, 29 और 55 साल है. ये तीनों क्रमश: स्पेन, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका से गोवा लौटे थे. Also Read - इस राज्य में सबसे तेजी से फैल रहा कोरोना, एक दिन में 13 लोगों की मौत

उन्होंने बताया कि तीनों मरीजों को यहां के निकट गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई है. Also Read - याद नहीं पिछली बार कब इतना लंबा ब्रेक लिया था : पीवी सिंधु

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि 21 मार्च के बाद विदेशों से आए करीब 64,000 लोगों में से 8,000 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया और 56,000 लोगों को घरों में आइसोलेशन में रखा गया है. कोरोनावायरस (कोविड-19) पर गठित मंत्रिसमूह की उच्च स्तरीय बैठक में बुधवार को मौजूदा स्थिति की समीक्षा की गई. Also Read - Coronavirus latest update: रविवार का दिन सबसे बुरा, मरीजों का आंकड़ा 4000 के पार, एक दिन में 27 लोगों की मौत

कोरोनावायरस के प्रकोप की रोकथाम के लिए प्रभावी उपाय के तौर पर सोशल डिस्टेंसिंग अर्थात लोगों के आपस में दूरी बनाने की अहमियत पर बल देते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने लोगों से स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद देशभर में लॉकडाउन है. इस लॉकडाउन के दौरान हमें अपने घरों में भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की आवश्यकता है.”

वहीं दूसरी तरफ वैज्ञानिकों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने चेतावनी दी है कि भारत में मई महीने के मध्य तक कोरोना वायरस से संक्रमित पुष्ट मामलों की संख्या एक लाख से लेकर 13 लाख तक हो सकती है. वैज्ञानिकों ने कहा, ”भारत के लिए यह जरूरी है कि वह देश में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से फैलने से पहले बेहद कड़े उपायों को अपनाए.”