नई दिल्‍ली: अब तक दिल्‍ली में कुल 384 लोग कोरोना वायरस संक्रमित मिले हैं. पिछले 24 घंटे में 91 मामले बढ़ गए हैं. दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को बताया कि अब तक दिल्‍ली में कुल 384 लोग कोरोना वायरस संक्रमित मिले हैं. पिछले 24 घंटे में 91 मामले बढ़ गए हैं. सीएम केजरीवाल ने बताया कि अब तक कोरोना वायरस से 5 लोगों की मौत हुई है. इसमें एक वह व्‍यक्ति भी शामिल है, जिसे मरकज से लाया गया था. Also Read - देश में 24 घंटे में कोरोना के 9,851 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 26 हजार के पार

दिल्‍ली में दिल्‍ली में 384 मामलों में 58 लोगों ने विदेश की यात्रा की थी. इनमें बहुत से दिल्‍ली के नहीं हैं, लेकिन उन्‍हें क्‍वारंटाइन किया है. इनमें से 259 लोगों ने दिल्‍ली में निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के इवेंट में हिस्‍सा लिया था. Also Read - Mumbai Updates: हैरान करने वाले हैं महाराष्ट्र में कोरोना के मामले, देश के 20 प्रतिशत मरीज सिर्फ मुंबई में

  • देश के 14 राज्यों में तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित मिले
  • देश के 14 राज्‍यों में जहां से तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने वालों में से अब तक कुल 647 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले दो दिनों में तबलीगी जमात के 647 लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. ये लोग असम, अंडमान निकोबार, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश से हैं.

  • देश में कोरोना के संक्रमण के अब तक 2301 मामले अब तक आए
  •  56 मरीजों की मौत हुई और 156 मरीजों को इलाज के बाद स्वस्थ होने छुट्टी दे दी गई
  •  पिछले 24 घंटों में 12 मरीजों की मौत हुई है.
  •  कोरोना के संक्रमण की श्रंखला को तोड़ने के लिए लागू देशव्यापी बंद (लोकडाउन) कारगर उपाय
  •  संक्रमण के मामलों में जो बढ़ोतरी पिछले कुछ दिनों में हुई है, उसका मुख्य कारण एक खास घटना रही.

-अगर इस घटना को छोड़ दें तो लॉकडाउन और इस दौरान सामाजिक सोशल डिस्टेंसिंग के उपायों के कारण नए मामलों की गति मे इजाफा नहीं हो रहा था.

– केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने देशवासियों से अपील की, हम सभी को यह समझना होगा कि हम एक संक्रामक बीमारी से जूझ रहे हैं, ऐसे में इससे निपटने के उपायों का पालन में करने में मामूली सी चूक हमारे सारे प्रयासों को व्यर्थ साबित कर देती है.