नई दिल्लीः कोरोना वायरस के बढ़ रहे मामलों की वजह से राजधानी दिल्ली(Delhi) को 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है. इस दौरान केवल अस्पताल, मेडिकल जैसी जरूरी सेवाए ही चालू रहेंगी बाकी सब कुछ पूरी तरह से बंद रहेगा. ऐसे में देश में टैक्सी सेवाएं देने वाली कंपनी ओला-उबर ने भी अब एक बड़ा कदम उठाया है. इन दोनों ही कंपनियों ने 31 मार्च तक के लिए दिल्ली में अपनी सर्विस बंद कर दी है. कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है. Also Read - Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,897 नए मामले सामने आए, 39 रोगियों की मौत

बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से कई बड़े सेक्टर्स को काफी नुकसान हो रहा है. इसका असर अब कैब सर्विस पर भी देखा जा रहा है. बीते कुछ दिनों से लोगों ने आना जाना कम कर दिया है जिसकी वजह से ओला और उबर की बुकिंग में कमी दर्ज की गई है. इससे पहले कंपनी ने अपनी शेयरिंग राइट को रोका था लेकिन अब 31 मार्च तक किसी भी तरह की बुकिंग सर्विस नहीं दी जाएगी. ओला  की तरफ से कहा गया है कि इस कठिन समय में गैर जरूरी यात्राएं न करें. Also Read - कोरोना संकट का असर, हरियाणा रोडवेज की बसों के उत्तराखंड में प्रवेश करने पर रोक

इससे पहले ओला के प्रवक्ता ने रविवार के जनता कर्फ्यू पर एक बयान में कहा था कि , ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता कर्फ्यू की अपील को ध्यान में रखते हुए हम देशभर में अपने ग्राहकों को सवेरे सात से नौ के बीच गैर-जरूरी यात्रा नहीं करने के लिए प्रेरित करेंगे. इस अवधि के दौरान आपातकालीन और अनिवार्य यात्राओं के लिए सीमित सेवा उपलब्ध रहेगी.’ अब दोनों ही प्राइवेट कंपनिया अपनी सभी सर्विस 31 मार्च तक के लिए बंद रखेंगी.

आपको बता दें कि इस समय पूरी दुनिया कोरोना वायरस से एक महायुद्ध लड़ रही है. दुनिया भर के 200 से ज्यादा देश इस खतरनाक वायरस की चपेट में हैं और अब तक 13 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं और लगभग डेढ़ लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं. कैब सर्विस देने वाली कंपनियों कहना है कि जितना कम आना जाना होगा सोशल डिस्टेंस उतना मेंटेंन रहेगा और वायरस को फैलने से रोका जा सकता है.